प्राथमिकी दर्ज: 2022 में शराब से संबंधित अपराधों के लिए 73,000 से अधिक गिरफ्तार

August 6th, 2022

डिजिटल डेस्क, पटना। शराबबंदी कानून को गलत तरीके से लागू करने को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रही राज्य पुलिस और शराब विरोधी कार्य बल (एएलटीएफ) ने गुरुवार को पिछले 7 महीनों में 73,000 से अधिक अपराधियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। एएलटीएफ के एक अधिकारी के अनुसार, विभाग ने 40,000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि शेष को जिला पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

अधिकारी ने आंकड़े साझा करते हुए कहा कि राज्य में गिरफ्तार किए गए लोगों की कुल संख्या 73,413 है, जिनमें से 40,074 को एएलटीएफ ने पकड़ा है। सात माह की अवधि में प्रदेश के विभिन्न थानों में 52,770 प्राथमिकी दर्ज की गई है।

राज्य में अप्रैल 2016 से शराबबंदी अधिनियम लागू किया गया था। आंकड़ों के अनुसार, 2018 में 4,012, 2019 में 4,313, 2020 में 3,802 और 2021 में 5,522 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था।

एएलटीएफ जनवरी 2022 से लागू हुआ और हमने जनवरी में 4,357, फरवरी में 4,118, मार्च में 5,422, अप्रैल में 4,490, मई में 6,255, जून में 6,992 और जुलाई में 8,440 अपराधी गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने कहा, बिहार के सभी 38 जिलों में हमारे पास 233 टीमें हैं जो जिला पुलिस के सहयोग से चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

सोर्सः आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.