मध्य प्रदेश सियासत: मध्यप्रदेश के रीवा में बलि चढ़ाने के लिए युवक की हत्या की

July 16th, 2022

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश से एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। जहां एक मंदिर में एक व्यक्ति ने कथित तौर पर एक युवक की हत्या कर दी। घटना रीवा जिले के एक गांव की है और पीड़ित की पहचान 19 वर्षीय दिव्यांश कोल के रूप में हुई है। पुलिस के अनुसार, स्थानीय लोगों ने 6 जुलाई को मंदिर के फर्श पर एक लड़के का शव देखा था और पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, लेकिन उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी।

पीड़िता की तस्वीर सोशल मीडिया पर प्रसारित होने के बाद, पुलिस को पता चला कि मृतक एक पड़ोसी गांव का रहने वाला था- जिसे केंती के नाम से जाना जाता है। जांच के दौरान, पुलिस ने पाया कि पीड़िता रामलाल प्रजापति का करीबी था और उसे 6 जुलाई को एक साथ मंदिर की ओर जाते देखा गया था। इस बीच, पुलिस ने देखा कि प्रजापति अपने घर से गायब था और उसका मोबाइल स्विच ऑफ था।

मामले में प्रजापति की संलिप्तता पर शक करते हुए पुलिस ने रात में उसके घर पर छापा मारा और उसे पूछताछ के लिए थाने ले गई। सिरमौर (रीवा जिले में) के पुलिस उप-मंडल अधिकारी नवीन तिवारी ने आईएएनएस को बताया कि प्रजापति ने अलग-अलग कहानियां सुनाकर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, हालांकि बाद में उसने युवक की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।

प्रजापति ने पुलिस को बताया कि उसकी तीन बेटियां हैं और वह हमेशा से एक बेटा चाहता था। इसलिए, उसने प्रतिज्ञा की थी कि यदि उसकी गर्भवती पत्नी, एक बच्चे को जन्म देगी, तो वह एक जवान की बलि देगा। पिछले महीने, प्रजापति की पत्नी ने बेटे को जन्म दिया और वह बलि के लिए एक युवक की तलाश कर रहा था।

तिवारी ने कहा, तब से, प्रजापति देवी को बलि चढ़ाने के लिए एक लड़के की तलाश में था। चूंकि पीड़ित उसके करीब था, उसने उसे मंदिर जाने के लिए मना लिया। जैसे ही पीड़ित देवी की पूजा करने के लिए लेट गया, प्रजापति ने उसकी गर्दन पर एक तेज कुल्हाड़ी से हमला किया और मौके से भाग गया। तिवारी ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। आगे की जांच चल रही है।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.