दैनिक भास्कर हिंदी: केजरीवाल पर बनी डॉक्यूड्रामा 'एन इन्सिगनिफिकेंट मैन' इस दिन होगी रिलीज

October 13th, 2017

डिजिटल डेस्क,मुंबई। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक वक्त में दिल्ली सरकार से लेकर केंद्र तक को हिला कर रख दिया था। सियासत की गलियों में जिस तरह से उनकी आवाज और इरादों ने खलबली मचाई थी उससे हर कोई हैरान था। इसके बाद वो एक आम आदमी से वो राजनेता बन गए। अब उनकी इसी ऊंचाई को नापने के लिए एक डॉक्यूमेंट्री-ड्रामा फिल्म बनाई गई है। फिल्म का नाम 'एन इन्सिगनिफिकेंट मैन' रखा गया है। इस फिल्म को 17 नवंबर को रिलीज किया जाएगा। 

Image result for An Insignificant Man

फिल्म को अमेरिका की मीडिया कंपनी वाइस लॉन्च करेगी। फिल्म का डायरेक्शन खुशबू रांका और विनय शुक्ला ने किया है। ये एक अकाल्पनिक राजनीतिक फिल्म है, जो सामाजिक कार्यकर्ता से लेकर राजनेता बने अरविंद केजरीवाल के भारतीय राजनीति में सफर को दर्शाती है।

Image result for An Insignificant Man

इस फिल्म को 'मास्टरपीस' बताते हुए वाइस ने घोषणा की है कि अब वो फिल्म को पूरे भारत और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज करने के लिए निर्माता आनंद गांधी की मेमिसिस लैब के साथ पार्टनरशिप करेंगे।

वाइस डॉक्यूमेंट्री फिल्म्स के कार्यकारी निर्माता, जेसन मोजिका ने कहा, 'मैंने ये फिल्म टोरंटो इंटरनेशन फिल्म फेस्टिवल 2016 में देखी और मुझे लगा कि ये फिल्म मार्शल करी की 'स्ट्रीट फाइट' के बाद जमीनी राजनीति पर बनी सबसे बेहतरीन डॉक्यूमेंट्री फिल्म है।' मोजिका ने आगे कहा, 'हम फिल्म को विश्वभर में अपने दर्शकों के सामने इसलिए ला रहे हैं, क्योंकि हम मानते हैं कि ये किसी भी व्यक्ति के लिए एक अत्यधिक प्रासंगिक फिल्म है, जो अपने राजनीतिक प्रणालियों में समस्याओं को देखता है और जिसमें व्यक्तिगत रूप से चीजों को बदलने की कोशिश करने का जज्बा दिखता है।'

Image result for An Insignificant Man

बता दें, इस फिल्म पर सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी को ऐतराज था। उन्होंने फिल्म रिलीज करने के लिए फिल्म निर्माताओं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और अरविंद केजरीवाल से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) लाने को कहा था। अंत में, फिल्म प्रमाणन अपीलीय न्यायाधिकरण ने फिल्म को मंजूरी दे दी।