comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

लॉकडाउन बेबी: महामारी के दौरान इन सितारों के घर गूंजी किलकारी

September 26th, 2020 14:23 IST
लॉकडाउन बेबी: महामारी के दौरान इन सितारों के घर गूंजी किलकारी

हाईलाइट

  • लॉकडाउन बेबी: महामारी के दौरान इन सितारों के घर गूंजी किलकारी

नई दिल्ली, 26 सितंबर (आईएएनएस)। एक ओर दुनिया जहां महामारी के कारण थम सी गई, वहीं कुछ हस्तियों के जीवन में खुशियों ने रौनक बिखेर दी। इसका कारण हैं उन सितारों के घर में आए नए मेहमान।

आईएएनएस ने ऐसे देसी और अंतर्राष्ट्रीय हस्तियों की एक सूची तैयार की, जिन्होंने लॉकडाउन के बीच अपने घर में नन्हे मेहमान के आगमन की खुशी मनाई।

जीजी हदीद और जेन मलिक: सुपरमॉडल जीजी हदीद और वन डायरेक्शन के पूर्व गायक जैन मलिक ने हाल ही में अपने प्रशंसकों, परिवार और दोस्तों को अपने घर में नए मेहमान व अपने पहले बच्चे के आने की जानकारी दी।

गायक (27) ने गुरुवार को अपने सत्यापित ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ये रही हमारी बेबी गर्ल, स्वस्थ और सुंदर। मैं अपनी भावनाओं को शब्दों में व्यक्त करने की कोशिश करना चाह रहा हूं, लेकिन यह असंभव काम हो रहा है। इस छोटे इंसान के लिए मुझे जो प्यार महसूस होता है, वह मेरी समझ से परे है। उसे जानने के लिए आभारी हूं, उसे अपना कहने पर गर्व है और उस जीवन के लिए आभारी जिसे हम साथ बिताएंगे।

जूड लॉ और फिलिपा कोअन: हॉलीवुड स्टार जूड लॉ लॉकडाउन के दौरान छठी बार पिता बने हैं। ईऑनलाइन डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, लॉ ने पुष्टि की कि वह और उनकी पत्नी फिलिपा कोअन ने अपने पहले बच्चे का स्वागत किया है।

एड शीरन और चेरी सीबोर्न: सोशल मीडिया से ब्रेक ले चुके गायक एड शीरन ने 1 सितंबर को इंस्टाग्राम पर अपनी और उनकी पत्नी चेरी सीबोर्न को एक बेटी का आशीर्वाद मिलने की खबर साझा की।

गायक ने पोस्ट में लिखा था, हेलो! मैं आप सभी से कुछ व्यक्तिगत खबर साझा करना चाहता हूं कि पिछले सप्ताह, एक अद्भुत डिलीवरी टीम की मदद से चेरी ने हमारी सुंदर और स्वस्थ बेटी - लाइरा अंटार्कटिका सीबोर्न शीरन को जन्म दिया है।

केटी पेरी और ओरलैंडो ब्लूम: पॉप स्टार कैटी पेरी और उनके मंगेतर व अभिनेता ऑरलैंडो ब्लूम ने अगस्त में अपनी पहली संतान का एक साथ स्वागत किया। उन्होंने अपनी बच्ची का नाम डेजी डव ब्लूम बताया। जोड़े ने यूनिसेफ के माध्यम से खबर साझा की थी, जिससे वे गुडविल एंबेसडर के रूप में काम करते हैं। संगठन ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर इस खबर को पोस्ट किया।

उन्होंने कहा, हम अपनी बेटी के सुरक्षित और स्वस्थ आगमन से प्यार और आश्चर्य से भर गए हैं। लेकिन हम जानते हैं कि हम भाग्यशाली हैं और हर कोई हमारी तरह उतनी ही शांति का अनुभव नहीं कर सकता, जितना बच्ची के जन्म के वक्त हमने किया। दुनियाभर में समुदाय अभी भी हेल्थकेयर वर्कर्स की कमी का सामना कर रहे हैं और अधिकांशत: एहतियातन कारणों की वजह से हर ग्यारह सेकंड में एक गर्भवती महिला या नवजात शिशु की मृत्यु हो जाती है।

सोफी टर्नर और जो जोनास: सोफी टर्नर और पॉप गायक जो जोनास ने अपनी पहली बेटी विल्ला का स्वागत किया है।

ईऑनलाइन डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, इस जोड़े के प्रतिनिधि ने कहा, सोफी टर्नर और जो जोनास को अपनी बेटी के जन्म की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है।

एकता कौल और सुमित व्यास: अभिनेता सुमीत व्यास ने जून में ट्वीट किया कि उनके परिवार में एक नए सदस्य का आगमन हो हुआ है, उन्होंने लिखा है, यह एक लड़का है। उन्हें वेद बुलाया जाएगा।

सुमीत ने अभिनेत्री एकता कौल से 2018 में शादी की थी और वेद उनकी पहली संतान हैं।

हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविक: क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और बॉलीवुड डांसर व अभिनेत्री नतासा स्टेनकोविक जुलाई में माता-पिता बने। हार्दिक ने खबर को साझा करते हुए पोस्ट किया, हमें बेबी बॉय का आशीर्वाद मिला है।

निराली मेहता और रुस्लान मुमताज: अभिनेता रुस्लान मुमताज और उनकी पत्नी व उद्यमी निराली मेहता ने मार्च में अपने पहले बेटे का स्वागत किया। उनके घर यह खुशी लॉकडाउन की शुरुआत में आई।

बच्चे की तस्वीर साझा करते हुए रुस्लान ने लिखा, 26-03-2020, छोटा बेबी आ गया है। मैं करीब 3,4 महीने के लिए अपने बच्चे की किसी भी तस्वीर को अपलोड करने से बचने वाला हूं, लेकिन दुनिया में मौजूदा उदासी को देखते हुए अभी मुझे लगता है कि एक छोटा बच्चे की खबर आपके दिन को अच्छा बना सकती है।

गौरव चोपड़ा और हितिशा चेरांदा: टीवी स्टार गौरव और उनकी पत्नी व फैशन सलाहकार हितिशा ने इस महीने की शुरुआत में अपने बच्चे का स्वागत किया।

गौरव ने अपने वेरीफाइड इंस्टाग्राम अकाउंट से पोस्ट किया, मेरे घर आया एक नन्हा कुंवर, चांदनी के हसीन रथ पर सवार. मुझे याद है कि उतरण में एक सीक्वेंस के लिए इसे गाया गया था, क्योंकि आरपीआर के घर एक बच्चा आता है . काश मैं उस वास्तविक एहसास को तब जान पाता था . जैसा कि हमने इस प्यारे बच्चे का स्वागत किया है। आप सभी के साथ इस पल को साझा करना चाहता हूं।

एमएनएस/वीएवी

कमेंट करें
E69hP
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।