comScore

SSR Death case: जांच में देरी पर CBI ने कहा- हर एंगल से और प्रोफेशनल तरीके से मामले की जांच कर रही टीम

SSR Death case: जांच में देरी पर CBI ने कहा- हर एंगल से और प्रोफेशनल तरीके से मामले की जांच कर रही टीम

हाईलाइट

  • भूख हड़ताल करेंगे दोस्त और पूर्व स्टाफ मेंबर
  • 14 जून को घर में मृत पाए गए थे सुशांत सिंह

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच को लेकर CBI का बयान सामने आया है। CBI का कहना है कि वह हर एंगल से और प्रोफेशनल तरीके से मामले की जांच कर कर रही है। पिछले हफ्ते, सुशांत सिंह के परिवार के वकील विकास सिंह ने CBI की जांच की गति पर नाराजगी जताई थी। विकास सिंह ने ये भी दावा किया था कि उन्हें एम्स के डॉक्टर ने बहुत पहले बताया था की सुशांत की तस्वीरें इस ओर इशारा करती हैं कि यह आत्महत्या नहीं बल्कि गला दबाककर की गई हत्या है।

क्या कहा था विकास सिंह ने?
विकास सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'आत्महत्या के लिए उकसाने को सुशांत सिंह राजपूत की हत्या के मामले में बदलने का फैसला करने में सीबीआई की देरी से हताश हो रहा हूं।' उन्होंने कहा था, 'एम्स टीम का हिस्सा रहे चिकित्सक ने मुझे बहुत पहले बताया था कि मैंने उन्हें जो तस्वीरें भेजी थीं, वे 200 प्रतिशत इस बात की ओर इशारा करती हैं कि यह गला दबाने से हुई मौत थी, आत्महत्या नहीं।' विकास सिंह ने यह भी आरोप लगाया था जांच में सारा ध्यान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के बॉलीवुड सितारों के ड्रग्स लेने के मामले पर लग गया है।

भूख हड़ताल करेंगे दोस्त और पूर्व स्टाफ मेंबर
उधर, CBI की जांच में देरी को लेकर सुशांत के एक पूर्व स्टाफ मेंबर और दोस्त ने 2 अक्टूबर से गांधी जयंती के अवसर भूख हड़ताल पर जाने का फैसला कर लिया है। एक टीवी रिपोर्ट के मुताबिक, सुशांत के दोस्त रहे गणेश हिवारकर और उनके स्टाफ मेंबर रहे अंकित आचार्य ने इस केस में जल्द ही न्याय मिलने के लिए सांकेतिक भूख हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा है कि वह नहीं चाहते हैं कि केस किसी अलग दिशा में चला जाए और सीबीआई मामले पर जल्द अपनी जांच पूरी करे।

14 जून को घर में मृत पाए गए थे सुशांत सिंह
बता दें कि 34 साल के सुशांत सिंह राजपूत बीते 14 जून को उनके मुंबई स्थित घर में मृत पाए गए थे। सुशांत के पिता मुंबई पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं थे इसी वजह से उन्होंने पटना के राजीव नगर थाने में 25 जुलाई को इस मामले की जांच के लिए सुशांत की गर्लफ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती समेत 6 के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी। इसके बाद रिया ने 29 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके पटना में दायर किए गए मुकदमे को मुंबई ट्रांसफर किए जाने का अनुरोध किया। कोर्ट ने रिया की याचिका को अस्वीकार करते हुए सीबीआई को जांच सौंप दी। ड्रग एंगल सामने आने के बाद अब एनसीबी भी इस केस में जांच-पड़ताल कर रही है। 

AIIMS की रिपोर्ट का सभी को इंतजार
 सीबीआई सुशांत के केस में एम्स की फॉरेंसिक टीम की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। यह टीम सुशांत के विसरा और अटॉप्सी की जांच कर रही है। इस जांच की रिपोर्ट के आधार पर ही सीबीआई जांच की दिशा तय होगी। इस रिपोर्ट में हो रही देरी के चलते ही सीबीआई की जांच पर सवाल उठाए जा रहे थे। हालांकि अब सीबीआई की तरफ से अब जवाब दे दिया गया है कि जांच में देरी क्यों हो रही है? लेकिन अब भी सीबीआई की तरफ से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी साइंसेज विभाग की रिपोर्ट में देरी को लेकर कोई जवाब सामने नहीं आया है।

कमेंट करें
AZd0q