दैनिक भास्कर हिंदी: We The Women इवेंट में स्मृति ईरानी का 'पद्मावती' विवाद पर यू-टर्न

December 10th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी शनिवार को मुंबई में आयोजित WeTheWomen इवेंट के दौरान बॉलीवुड और राजनीति के कई दिग्गज दर्शकों से रूबरू हुईं। उन्होंने इस कार्यक्रम में कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी और फिल्मों के साथ इससे संबंधित प्रश्न ज्यादातर पीआर स्टंट है। इस दौरान फिल्ममेकर करण जौहर, एकता कपूर भी मौजूद थे। जिन्होंने दर्शकों के सवालों के जवाब दिए। इस कार्यक्रम में देश में राजनीति का शि‍कार हो रहीं बॉलीवुड फिल्मों पर भी सवाल उठाए गए हैं। 

 

 

पद्मावती पर ये बोलींं स्मृति ईरानी

दरअसल, स्मृति ईरानी से ऑडियंस ने पूछा कि फिल्मों को क्यों टारगेट बनाया जाता है? आर्टिस्टिक फिल्मों को राजनीति के तहत दबाया जाता है? क्या आर्टिस्टिक फ्रीडम होगी?। इन सवालों के जवाब में स्मृति ने कहा, 'चुनाव के दौरान ही क्यों ये प्रश्न उठता है। उन्होंने कहा कि मैं प्रसून जोशी के काम से खुश हूं, वह काफी अच्छा काम कर रहे हैं। एक नागरिक के तौर पर हमें कानून के दायरे में ही काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि क्या हम लोग एक फिल्म के पीआर तो नहीं बन गए हैं। 

 

 

सब पीआर स्टंट है


वहीं फिल्मों में सरकारी हस्तक्षेप को खारिज करते हुए स्मृति ईरानी बोली, 'अगर ऐसा होता तो केजरीवाल की फिल्म को क्यों पास किया जाता। अरविंद केजरीवाल पर बनी फिल्म भी इसी सरकार में रिलीज की गई है। उन्होंने कहा कि "हमारी सरकार ने कुछ गलत नहीं किया। अगर मैं इस मामले को लेकर पब्लिकली कुछ बोलूंगी तो जिसने ये पीआर स्टंट किया है उसे चोट पहुंचेगी।" स्मृति ने कहा, करण, एकता या मैं एक ही इंडस्ट्री से हैं। हालांकि, अब मैं मंत्रालय में हूं। हमें पता है कि फिल्मों के पीआर के लिए किस-किस तरह के हथकंडे अपनाए जाते रहे हैं। 

 

'वी द वूमेन' सम्मेलन में ईरानी ने कहा, "मैं समझती हूं कि लोग हर चुनाव से पहले मेनस्ट्रीम की मीडिया में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को लेकर सवाल उठाने लगते हैं। मुझे लगता है कि हमें इस पर भी आत्मविश्लेषण करने की आवश्यकता है।" इस कार्यक्रम के दौरान स्मृति ने फिल्मों को रिलीज ना किए जाने पर सरकार की मंशा साफ कर दी।