दैनिक भास्कर हिंदी: रोमांटिक कॉमेडी से भरपूर हे 'लुका छुपी' पहले दिन कर सकती है इतनी कमाई

March 1st, 2019

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। लक्ष्मण उतेकर के निर्देशन मे बनी फिल्म 'लुका छुपी' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। सोशल मीडिया पर कार्तिक-कृति की फिल्म को बेहतरीन रेटिंग मिल रही है। लुका छुपी में कॉमेडी का भरपूर डोज है। एक यूजर ने लिखा- ''फिल्म रोमांस, कॉमेडी, ड्रामा, बेहतरीन म्यूजिक का सॉलिड कॉम्बिनेशन है। कार्तिक पूरे फॉर्म में हैं वहीं कृति हमेशा की तरह शानदार दिखीं। हालांकि लुका छुपी में ज्यादातर पुराने हिट गानों को नए वर्जन में पेश किया गया है। रोमांटिक कॉमेडी में सुपरहिट म्यूजिक ने चार चांद लगा दिए हैं। लोगों ने सभी कलाकारों के काम की तारीफ की है। बता दें, ट्रेड एक्सपर्ट्स का अनुमान है कि फिल्म पहले दिन 6-8 करोड़ की कमाई कर सकती है।

बॉलीवुड एक्टर कार्तिक आर्यन और कृति सेनन की ये फिल्म दो अलग सोच रखने वाले कपल की है। आज का यूथ अपने जीवनसाथी को जांच-परख कर चुनना चाहता है, जहां गुड्डू (कार्तिक आर्यन) का मानना है कि अगर प्यार है तो शादी क्यों न कर ली जाए, जबकि रश्मि (कृति सेनन) का मानना है कि भले प्यार हो, मगर लिव-इन में रह कर एक-दूसरे को आजमाने में क्या हर्ज है। 

फिल्म की कहानी मथुरा शहर से शुरू होती है, जहां गुड्डू एक लोकल केबल चैनल का रिपोर्टर है। रश्मि एक राजनीतिक दल और संस्कृति ग्रुप के सर्वेसर्वा त्रिवेदी जी (विनय पाठक) की इकलौती बेटी है, जो दिल्ली से मीडिया की पढ़ाई करके आईं है। इंटर्नशिप के तहत वह गुड्डू के लोकल केबल चैनल से जुड़ती है, जहां दोनों में प्यार हो जाता है। मगर कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब रश्मि गुड्डू के साथ लिव-इन में रह कर उसे परखना चाहती है। मुद्दा यह है कि रश्मि के पिता त्रिवेदी जी एक्टर नाजिम खान के लिव-इन का कड़ा विरोध कर उसकी फिल्मों को बैन करवा चुके हैं। अब उनके पार्टी सदस्यों का कहर मथुरा के लव कपल्स पर बरस रहा है। उसकी पार्टी के मेंबर्स प्रेमी जोड़ों को देखते ही उनका मुंह काला करने से नहीं चूकते। ऐसे में गुड्डू का दोस्त अब्बास (अपारशक्ति खुराना) जुगाड़ लगाता है कि चैनल के लिए की जानेवाली एक स्टोरी के लिए वे लोग ग्वालियर जा रहे हैं, तो 20 दिन के इस असाइनमेंट में दोनों ग्वालियर में लिव-इन में रह कर एक-दूसरे को आजमा सकते हैं।

ग्वालियर में दोनों लिव-इन में रहने के बाद शादी का फैसला कर लेते हैं, मगर तभी उनके प्यार पर नजर लग जाती है। गुड्डू के भाई का साला बाबूलाल (पंकज त्रिपाठी) दोनों को साथ देख लेता है और उन्हें मैरिड कपल समझकर गुड्डू के पूरे परिवार को ग्वालियर ले आता है। गुड्डू को कोसने-पीटने के बाद दोनों के परिवार उन्हें शादीशुदा मानकर अपना लेते हैं, मगर गुड्डू और रश्मि की मुसीबत यह है कि दोनों की शादी नहीं हुई है और अब दोनों लुक छिप कर तरह-तरह से शादी करने की तिकड़में लगाते हैं। अब क्या गुड्डू-रश्मि की शादी होगी या नहीं इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।