comScore

Fake News: क्या सच में कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों को मार रही है चीन की पुलिस ?

Fake News: क्या सच में कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों को मार रही है चीन की पुलिस ?

डिजिटल डेस्क। घातक कोरोना वायरस का कहर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। चीनी प्रशासन के मुताबिक शुक्रवार तक वायरस की चपेट में आने से 1380 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। वहीं 63,851 लोगों में संक्रमण की पुष्टि की गई है। इसी बीच चीनी पुलिस के वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहें है। एक वीडियो में दो पुलिसकर्मी बंदूकें लेकर घूम रहे हैं। इस वीडियो के साथ बताया जा रहा है कि पुलिस वायरस से पीड़ित लोगों को मार रही है।

वहीं एक अन्य वीडियो में कुछ पुलिसकर्मी एक महिला को कार से बाहर निकालने के बाद महिला को जबरन घसीटते हुए दिखाई दे रहै हैं। सोशल मीडिया के बहुत से यूजर्स इस वीडियो को शेयर करते हुए बता रहे है कि पुलिसकर्मियों ने उस महिला की हत्या कर दी, क्योंकि वह घाटक कोरोना वायरस से संक्रमित थीं।

क्या है सच?
भास्कर हिंदी टीम ने अपनी पड़ताल पर पाया कि इस वीडियोज को लेकर किए जा रहे सभी दावे गलत हैं। अंग्रेजी वेबसाइट बूम लाइव की रिपोर्ट के मुताबिक बंदूक लिए पुलिसकर्मियों का वीडियो फेक है। रिपोर्ट के अनुसार यह वीडियो यिवु शहर का है। जहां, पागल कुत्ते को मारने के लिए पुलिस कार्रवाई कर रही थी। वहीं महिला के वीडियो में पड़ताल पर पाया गया कि महिला, किसी भी प्रकार से कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं थी। बता दें कि चीनी सरकार ने प्राइवेट कार चलाने पर बैन लगा रखा है और यह महिला अपनी कार चला रही थी। इसी कारण पुलिस उसे हिरासत में ले रही थी।

ये भी पढ़ें : Fake News: दिल्ली चुनाव से पहले पाक पीएम इमरान से मिले थे केजरीवाल, जानें वायरल तस्वीरों का सच?

कमेंट करें
QkCjv