दैनिक भास्कर हिंदी: Budget 2020: स्वास्थ्य के क्षेत्र में 70 हजार करोड़ का ऐलान, 'टीबी हारेगा, देश जीतेगा' का नारा टॉप पर

February 1st, 2020

हाईलाइट

  • स्वास्थ्य क्षेत्र में 70 हजार करोड़ रुपये का किया ऐलान
  • फिट इंडिया मूवमेंट को दिया जाएगा बढ़ावा
  • 2025 तक टीबी मुक्त करने का लक्ष्य

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में मोदी सरकार 2.0 का पहला केन्द्रीय बजट 2020 (Union Budget 2020) पेश किया गया। इस बजट में स्वास्थ्य को लेकर कई घोषणाएं की गई। इस बार सरकार द्वारा स्वास्थ्य योजनाओं के लिए 70 हजार करोड़ का ऐलान किया गया है। इस साल के बजट में फिट इंडिया मूवमेंट को बढ़ावा दिया जाएगा। 'टीबी हारेगा, देश जीतेगा' का नारा इस के बजट में टॉप पर है। इसके अलावा भी इस साल के बजट में ऐसी कई चीजें हैं, जो आम आदमी के हित में है। आइए जानते है इनके बारे में। 

यह भी पढ़े: किसानों के लिए बड़ा ऐलान, बजट में पेश किया 16 सूत्रीय फॉर्मूला

फिट इंडिया मूवमेंट
इस साल बजट में फिट इंडिया मूवमेंट को बढ़ावा दिया गया है। इस मूवमेंट की शुरुआत साल 2019 में पीएम नरेंद्र मोदी ने की थी। उनका नारा था 'हम फिट तो इंडिया फिट'। इसी को ध्यान में रखते हुए इस बार बजट में इसे शामिल किया गया है।

आयुष्मान भारत योजना
सरकार ने इस बार भा​रतवासियों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा है। इस बार बजट के अंतर्गत आयुष्मान भारत योजना में अस्पतालों की संख्या बढ़ाई जाएगा। इसके लिए पीपीपी मॉडल की मदद की जाएगी, जिसमें दो फेज में अस्पतालों को जोड़ा जाएगा। ताकि हर एक नागरिक इसका लाभ ले सके। 

इंद्रधनुष मिशन
बच्चों को लगने वाले टीका, जिसे इंद्रधनुष मिशन नाम दिया गया है। इस बार इसका विस्तार किया जाएगा। ताकि कोई भी बच्चा इससे अछूता न रहे और बीमारियों से बच सके। बता दें कि इंद्रधनुष के सात रंगों को  प्रदर्शित करने वाला मिशन इंद्रधनुष का उद्देश्य उन बच्चों का 2020 तक टीकाकरण करना है, जिन्हें टीके नहीं लगे हैं। 

यह भी पढ़े: आइए जानें बजट से जुड़े इन शब्दों का अर्थ?

'टीबी हारेगा, देश जीतेगा'
इस बार सरकार ने टीवी के​ खिलाफ जंग लड़ने की ठान ली है। सरकार द्वारा टीबी के खिलाफ अभियान शुरू किया जाएगा, 'टीबी हारेगा, देश जीतेगा।' सरकार का देश को 2025 तक टीबी मुक्त करने का लक्ष्य है।

औषधि योजना
प्रधानमंत्री औषधि योजना के तहत सेंटर्स की संख्या को बढ़ाया जाएगा। मतलब सरकार का ध्यान आयुर्वेद पर ज्यादा है। लोग ज्यादा से ज्यादा आयुर्वेद का इस्तेमाल करें। इसके लिए इसे बढ़ाया जाएगा। 

मेडिकल डिवाइस
इस बजट के अंतर्गत डॉक्टरी क्षेत्र में प्रयोग होने वाली मेडिकल डिवाइस का भी जिक्र किया गया है। बजट के ​अनुसार मेडिकल डिवाइस पर जो टैक्स मिलता है, उसका इस्तेमाल मेडिकल सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा। 

खबरें और भी हैं...