दिशा से दूर होगा डिप्रेशन!: AIIMS की नई तकनीक सक्षम और दिशा करेंगे डिप्रेशन और मानसिक रोगियों की देखभाल, ऐसे होगा इलाज

September 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली एम्स ने दो एप डेवलप किए है जिनके नाम सक्षम और दिशा है जो डिप्रेशन और मानसिक बीमारी से ग्रसित रोगियों की देखभाल करने में मदद करेंगे। कोरोनाकाल में कोविड संक्रमित के शिकार के बाद स्वास्थ्य महकमे के लिए डिप्रेशन और मानसिक रोगियों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय बना हुआ था इसी को ध्यान में रखते हुए ये दोनों एप बनाए है।

मानसिक बीमारियों से जूझ रहे मरीजों को मिलेगी मदद

सक्षम और दिशा इन बीमारियों से लड़ रहे मरीजों के लिए एक प्रकार से वरदान साबित होंगे। इसका फायदा ऐसे लोग भी ले सकेंगे जो आमतौर पर सायकोलॉजिस्ट के यहां जाने से डरते हैं कि उनकी बीमारी पब्लिक ना हो। आप सबने देखा लॉकडाउन के बाद लगातार मानसिक डिप्रेशन के मरीजों की संख्या में अचानक बढ़ोत्तरी होने लगी। निरंतर कार्य और फास्ट लाइफस्टाइल के साथ कई कारणों से इन बीमारियों से कई लोग ग्रसित होने लगे। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की इन दोनों एप्लीकेशन से उन मरीजों को मदद मिलेगी जो लगातार इन बीमारियों का शिकार बने हैं।

मरीज की हर जरूरत को समझेंगे एप

सक्षम और दिशा गंभीर मानसिक बीमारियों से पीड़ित मरीजों के साथ उन लोगों के लिए अधिक फायदेमंद होंगी जो बीमारी की शुरूआती स्टेज में हो या उनमें अभी लक्षण प्रकट हो रहे हैं। एम्स मनोचिकित्सकों ने जिन मरीजों पर एप ट्रायल किया उनका रिजल्ट अच्छा आया। एम्स में पदस्थ सायकोल़ॉजिस्ट ममता सूद के अनुसार ये दोनों एप मरीजों की हर आवश्यकता को समझेंगे और उनकी डेली लाइफस्टाइल, उनकी कमियों को दर्ज कर सकेंगे। जिससे डॉक्टर और मरीज दोनों को फायदा मिलेगा। जो मरीज इन परेशानियों से गुजर रहे हैं वो अधिक लाभान्वित होंगे।

ब्रिटेन के सहयोग से बने हैं सक्षम और दिशा

दोनों एप को इंद्रप्रस्थ इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ,दिल्ली और यूनिवर्सिटी ऑफ वारविक औऱ ब्रिटेन के सहयोग से डेवलप किया है जिसे आर्थिक सहायता ब्रिटेन के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ रिसर्च ने दी है। ये दोनों एप 2022 की शुरूआत में आम आदमी के लिए भी उपलब्ध होंगे। सक्षम और दिशा मरीजों की दवाओं और अन्य जरूरतों के लिए केअरटेकर को रिमाइंडर भी भेजेंगे।

  

    

खबरें और भी हैं...