comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Explainer: ऐसी अनोखी गैलेक्सी जिसमें नहीं है ब्लैकहोल! हैरान वैज्ञानिक ढूंढ रहे वजह

January 11th, 2021 19:35 IST
Explainer: ऐसी अनोखी गैलेक्सी जिसमें नहीं है ब्लैकहोल! हैरान वैज्ञानिक ढूंढ रहे वजह

हाईलाइट

  • एक सुपरमेसिव ब्लैक होल के आश्चर्यजनक रूप से गायब होने से खगोलविद हैरान
  • सुपरमेसिव ब्लैक होल का MASS सूर्य के मास से 100 बिलियन गुना तक होने का अनुमान
  • अभी तक उन्हें इससे जुड़ा कोई भी सबूत नहीं मिल पाया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एक सुपरमेसिव ब्लैक होल के आश्चर्यजनक रूप से गायब होने से खगोलविद हैरान है। इस सुपरमेसिव ब्लैक होल का द्रव्यमान (MASS) सूर्य के द्रव्यमान से 100 बिलियन गुना तक होने का अनुमान है। वैज्ञानिक नासा के चंद्र एक्स-रे ऑब्जर्वेटरी और हबल स्पेस टेलीस्कोप की मदद से इस ब्लैक होल की तलाश कर रहे हैं। हालांकि अभी तक उन्हें इससे जुड़ा कोई भी सबूत नहीं मिल पाया है।

वैज्ञानिक इस ब्लैक होल की तलाश एबेल 2261 (Abell 2261) के केंद्र में कर रहे हैं, जो एक विशाल आकाशगंगा समूह है। ये हमारे ग्रह से लगभग 2.7 बिलियन प्रकाश वर्ष दूर है। एक प्रकाश वर्ष वह दूरी है जो लाइट की बीम एक साल में तय करती है। यानी 9 ट्रिलियन किलोमीटर। नासा के मुताबिक, ब्रह्मांड की प्रत्येक बड़ी आकाशगंगा के केंद्र में एक सुपरमैसिव ब्लैक होल है। इसका द्रव्यमान सूर्य के द्रव्यमान से लाखों या अरबों गुना है। हमारी आकाशगंगा- मिल्की वे के केंद्र में जो ब्लैक होल है उसे सैगिटेरियस A* (Sagittarius A*) कहा जाता है। यह पृथ्वी से 26,000 प्रकाश वर्ष दूर है।

What is Sagittarius A? - Universe Today
Sagittarius A*

एबेल आकाशगंगा के केंद्र की तलाश के लिए वैज्ञानिक 1999 और 2004 में जुटाए गए आंकड़ों का उपयोग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इसका ब्लैक होल नहीं खोज पाए हैं। अमेरिका में मिशिगन यूनिवर्सिटी की एक टीम के अनुसार इसका कारण गैलैक्सी के सेंटर से ब्लैक होल का इजेक्ट होना हो सकता है। शोधकर्ताओं का ये भी कहना है कि दो छोटी आकाशगंगाओं के मर्ज होकर बड़ी गैलेक्सी बनने के कारण भी ऐसा हो सकता है। एक ऐसी प्रोसेस जिसमें दोनों ब्लैक होल मर्ज होकर एक बहुत बड़ा ब्लैक होल बनाते हैं। नासा चंद्र ऑब्जर्वेटरी के डेटा के आधार पर रिसर्चर्स ने ये तर्क दिया है।

NASA's Chandra X-ray Observatory, Hubble Space Telescope Hunt for Missing Giant Black Hole - Clarksville, TN Online
Abell 2261

जब दो ब्लैक होल मर्ज होते हैं, तो ग्रेविटेशनल वेव रिलीज करते हैं। ये प्रकाश की गति से ट्रैवल करते हैं और अपने मार्ग में आने वाली किसी भी चीज को स्क्वीज और स्ट्रैच करते हैं। ग्रेविटेशनल वेव की थ्योरी के अनुसार, इस तरह के मर्जर के दौरान, जब एक दिशा में उत्पन्न वेव की मात्रा दूसरे से अधिक मजबूत होती है, तो नए बड़े ब्लैक होल को आकाशगंगा के केंद्र से विपरीत दिशा में भेजा जा सकता है। इसे "रीकोइलिंग" ब्लैक होल के रूप में जाना जाता है।

ESA - Two merging black holes

अब तक, हालांकि, वैज्ञानिकों को रीकोइलिंग ब्लैक होल के निश्चित सबूत नहीं मिले हैं। अभी भी यह पता लगाना बाकी है कि क्या सुपरमैसिव ब्लैक होल ग्रेविटेशनल वेव को मर्ज और रिलीज कर सकते हैं। अब तक, केवल छोटे ब्लैक होल के मर्जर को वैरिफाई किया गया है। अगर मिशिगन के रिसर्चर्स की परिकल्पना सच साबित होती है तो ये खगोल विज्ञान में एक बड़ी सफलता होगी।

कमेंट करें
0FkcY
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।