दैनिक भास्कर हिंदी: बांग्लादेश में भारी बारिश और बाढ़ का कहर, अब तक में 114 लोगों की मौत

July 27th, 2019

हाईलाइट

  • बांग्लादेश में भारी बारिश और बाढ़ के कारण अब तक में 114 लोगों की मौत

डिजिटल डेस्क, ढाका। बांग्लादेश में भारी बारिश से आई बाढ़ ने जमकर तबाही मचा रखी है। बाढ़ में मरने वालों की संख्या 114 तक पहुंच गई है। ज्यादातर लोगों की मौत डूबने से हुई है लेकिन कुछ की भूस्खलन, सांप के काटने और बिजली गिरने से हुई है। अधिकारियों के अनुसार 48 घंटों में करीब 20 लोगों की मौत हुई है।

जमालपुर के जिला प्रशासक अहमद कबीर ने बताया, जमालपुर में गुरुवार को बाढ़ के तेज प्रवाह में नाव पलटने से छह से 18 साल की पांच लड़कियों की डूबने से मौत हो गई। ब्रह्मपुत्र नदी 10 जुलाई के बाद से उफान पर है जिससे जमालपुर में करीब 12 लाख लोग बेघर हो गए हैं। 

नदी का पानी पिछले हफ्ते 1975 के बाद से अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया था। मयमनसिंह जिला के प्रशासक मिजानुर रहमान ने बताया, नदी के पानी से एक तटबंध टूटने से जिले के 6 गांवों में बाढ़ आ गई थी। जिसकी वजह से करीब 2,000 लोगों को अपना घर छोड़ कर भागना पड़ा। जिला अधिकारियों के मुताबिक 10 जुलाई से बाढ़ से करीब 50 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।

अधिकारियों का कहना है, जल-भराव वाले क्षेत्रों में जल जनित बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। नियंत्रण कक्ष के आंकड़ों के अनुसार, 10 जुलाई से 26 जुलाई के बीच बाढ़, जल जनित बीमारियों और अन्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण 14,781 लोग बीमार हुए हैं।

इस दौरान, कुल 5571 लोग डायरिया से संक्रमित थे, 1,610 संक्रमित और श्वसन पथ के संक्रमण (आरटीआई) से एक की मौत हुई, सात बिजली की चपेट में आने से मारे गए और आठ सांप के काटने से मारे गए इसके अतिरिक्त 1,905 लोग त्वचा रोगों से संक्रमित थे और 479 आंखों की सूजन के साथ बाढ़ से संबंधित थे, जिसमें 400 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

बाढ़ से प्रभावित जिलों में शरीयतपुर, राजबारी, मानिकगंज, मुंशीगंज, नेत्रकोना, चटगांव, कॉक्स बाजार, खगराखेड़ी, बंदरबन, रंगमती, फेनी, बोगरा, गाईबंधा, लालमिरिहट, नीलमफेरी, सिलहट, सुनमगंज, मौलागंज, मौलीगंज, मौलीगंज, मुरलीगंज शामिल हैं।