यमन: यमन के ताइज में हौथी ने दागे गोले, 13 बच्चे घायल

July 25th, 2022

हाईलाइट

  • संघर्ष विराम का विस्तार

डिजिटल डेस्क, सना। यमन के दक्षिण-पश्चिमी प्रांत ताइज में एक रिहायशी इलाके पर हौथी मिलिशिया द्वारा किए गए हमले में कुल 13 बच्चे घायल हो गए। एक सुरक्षा अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने समाचार एजेंसी शिन्हुआ को बताया, ताइज के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में घनी आबादी वाले पड़ोस के आवासीय घरों पर हौथियों द्वारा बेतरतीब ढंग से मोर्टार के गोले दागे गए। उन्होंने कहा, सरकार द्वारा नियंत्रित रिहायशी इलाके पर गोले दागने से कुल 13 बच्चे घायल हो गए।

यह हमला यमन के तीसरे सबसे बड़े शहर ताइज में संयुक्त राष्ट्र के एक उच्च पदस्थ प्रतिनिधिमंडल के आगमन के साथ हुआ, ताकि यमन में युद्धरत पक्षों को 2 अगस्त को समाप्त होने वाले संघर्ष विराम का विस्तार करने के लिए बढ़ाया जा सके।

पिछले कुछ दिनों पहले, यमन के हौथी ने युद्ध-ग्रस्त अरब देश के विभिन्न क्षेत्रों में कई हमले किये, क्योंकि यमन के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत हैंस ग्रंडबर्ग ने यमनी संघर्ष विराम को बढ़ाने के अपने प्रयास को आगे बढ़ाया।

संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में सरकार और हौथियों के बीच कई दौर की बातचीत हुई, लेकिन यमन के वर्षों से चले आ रहे सैन्य संघर्ष को समाप्त करने की दिशा में कोई प्रगति हासिल करने में सफल नहीं रही।

ईरान द्वारा समर्थित हौथी मिलिशिया ने सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन के साथ और छह महीने के लिए संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए नई शर्तें निर्धारित कीं।

जैसे ही संघर्ष विराम विस्तार की उम्मीदें फीकी पड़ने लगीं, राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने कहा कि यमन के मुद्दे पर वर्षों से चल रहे राजनीतिक गतिरोध को तोड़ने में संभावित विफलता स्थायी शांति के इच्छुक यमनी लोगों को बुरी तरह प्रभावित करेगी।

बता दें कि यमन 2014 के अंत से एक गृहयुद्ध में फंस गया है, जब हौथी मिलिशिया ने कई उत्तरी प्रांतों पर कब्जा कर लिया और सऊदी समर्थित सरकार को राजधानी सना से बाहर कर दिया। युद्ध ने हजारों लोगों की जान ली है। 40 लाख लोग विस्थापित हुए हैं और गरीब अरब देश को भुखमरी के कगार पर खड़ा कर दिया है।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.