comScore

पीएम मोदी का अफ्रीका दौरा : भारत ने रवांडा के लिए 200 मिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन बढ़ाई

July 24th, 2018 12:01 IST

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पांच दिवसीय अफ्रीका महाद्वीप के दौरे पर हैं।
  • सोमवार को पीएम मोदी रवांडा पहुंच गए। राष्ट्रपति पॉल कागामे ने खुद एयरपोर्ट पर पहुंचकर पीएम मोदी का स्वागत किया।
  • भारत ने रुवांडा के लिए 200 मिलियन डॉलर की ऋण राशि बढ़ा दी है।

डिजिटल डेस्क, किगाली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पांच दिवसीय अफ्रीका महाद्वीप के दौरे पर हैं। वे सोमवार को रवांडा पहुंचे, जहां पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। राष्ट्रपति पॉल कागामे ने खुद एयरपोर्ट पर पहुंचकर पीएम मोदी का स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और डेलिगेशन लेवल की चर्चा हुई। इस दौरान दोनों देशों के बीच लेदर और एग्रीकल्चर रिसर्च को लेकर कई एग्रीमेंट साइन हुए। भारत ने रवांडा को दी जाने वाली 200 मिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन बढ़ा दी है।

पीएम मोदी ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि यह पहला अवसर है जब भारत का कोई प्रधानमंत्री रवांडा आया है। यह उनका सौभाग्य है कि उनके मित्र राष्ट्रपति कगामे के निमंत्रण पर उन्हें यह अवसर मिला। पीएम मोदी ने राष्ट्रपति कागामे के दोस्ताना शब्दों और डेलिगेशन के गर्मजोशी भरे स्वागत और सम्मान के लिए आभार प्रकट किया। पीएम ने कहा कि राष्ट्रपति कागामे खुद उनका स्वागत करने एयरपोर्ट आए। उनका यह स्पेशल गेस्चर पूरे भारत का सम्मान है।

रवांडा के विकास में योगदान बना रहेगा
पीएम ने कहा, भारत और रवांडा के संबंध समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं। हमारे लिए यह गर्व का विषय है कि रवांडा के आर्थिक विकास और राष्ट्रीय विकास यात्रा में भारत आपका विश्वस्त साझेदार रहा है। रवांडा की विकास यात्रा में हमारा योगदान आगे भी बना रहेगा। हम ट्रेनिंग, टेक्नोलॉजी, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और प्रोजेक्ट असिस्टेंस के क्षेत्रों में सहयोग करते रहे हैं। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर, हॉस्पिटेलिटी और टूरिज्म सहित हमने ऐसे बहुत से क्षेत्र प्रस्तावित किए हैं जहां भारत और रवांडा व्यापक विकासात्मक भागीदारी मजबूत कर सकते हैं। हम अपने व्यापारिक और निवेश संबंधों को और अधिक मजबूत करना चाहते हैं।

हाईकमीशन भी खोला जाएगा
पीएम ने बताया कि रवांडा में हाईकमीशन भी खोला जा रहा है। यह न केवल सरकारों के बीच संचार स्थापित करेगा बल्कि पासपोर्ट वीजा और अन्य सुविधाएं भी इसके माध्यम से दी जाएंगी। वहीं रवांडा के राष्ट्रपति ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली यात्रा, रवांडा और भारत की दोस्ती और सहयोग को दर्शाती है। बता दें कि नरेन्द्र मोदी रवांडा का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। रवांडा की यात्रा के बाद मोदी 24 जुलाई को युगांडा पहुंचेंगे और कुछ कार्यक्रमों में भाग लेंगे। इन दो देशों की यात्रा के बाद वो अफ्रीका के जोहानिसबर्ग पहुंचकर 10वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

कमेंट करें
LeSXW