comScore

पाकिस्तान में 3 महीने बाद अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें आंशिक रूप से शुरू

June 22nd, 2020 16:01 IST
 पाकिस्तान में 3 महीने बाद अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें आंशिक रूप से शुरू

हाईलाइट

  • पाकिस्तान में 3 महीने बाद अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें आंशिक रूप से शुरू

इस्लामाबाद, 22 जून (आईएएनएस)। कोविड-19 महामारी के कारण दूसरे देशों में फंसे हुए अधिक से अधिक नागरिकों को वापस लाने के लिए पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को आंशिक रूप से फिर से शुरू कर दिया है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, देश ने 21 मार्च को अपने हवाई क्षेत्र को दो सप्ताह तक अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए बंद कर दिया था और फिर निलंबन कई बार बढ़ाया गया था।

सरकार ने रविवार को देश के हवाई क्षेत्र के 25 फीसदी हिस्से को फिर से खोल दिया है, ताकि विदेश में फंसे नागरिक वापस लौट सकें।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने वचन दिया है कि सरकार कोरोनावायरस महामारी के कारण विदेशों में रोजगार खोने के बाद देश लौटने वाले नागरिकों की सुविधा के लिए हर संभव उपाय करेगी।

उन्होंने रविवार को ट्वीट किया, इस महामारी में प्रवासी कामगारों को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है, लेकिन उन्होंने बहुत साहस दिखाया है और हमें गर्व महसूस कराया है।

एक निजी टीवी चैनल से बात करते हुए, प्रवासी पाकिस्तानी और मानव संसाधन विकास मामलों में प्रधानमंत्री के विशेष सहायक जुल्फिकार अब्बास बुखारी ने कहा कि खान के निर्देश पर हवाई क्षेत्र को आंशिक रूप से फिर से खोलने की पहल की गई है, क्योंकि सरकार बड़ी संख्या में फंसे पाकिस्तानी मजदूरों के बारे में चिंतित है। ये मजदूर विदेशों में, विशेषकर खाड़ी देशों में फंस गए हैं।

संघीय सरकार ने 16 जून को एक नई नीति का खुलासा किया था, जिसके तहत उसने 20 जून को अपने हवाई क्षेत्र के 25 प्रतिशत हिस्से को फिर से खोलने की घोषणा की।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस नीति के तहत, लगभग 40,000 से 45,000 पाकिस्तानी हर हफ्ते देश लौटेंगे और सभी फंसे हुए नागरिकों को एक महीने में घर भेज दिया जाएगा।

जिन यात्रियों में संक्रमण संबंधी लक्षण होंगे, केवल उनका ही परीक्षण किया जाएगा और अगर वे पॉजिटिव पाए जाते हैं, तो उन्हें सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सुविधाओं के साथ एकांतवास में रखा जाएगा।

हालांकि प्रत्येक यात्री को घर पर 14 दिनों के लिए एकांतवास में रहना होगा और उन्हें हवाईअड्डे पर इसे लिखित रूप में प्रस्तुत करना होगा।

लगभग 70 प्रतिशत विमान सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), कतर, कुवैत और मलेशिया के लिए उड़ानें भरेंगे, जहां पाकिस्तानी मजदूर फंसे हुए हैं।

कमेंट करें
cTXo6