दैनिक भास्कर हिंदी: ईरानी राष्ट्रपति ने कोविड की एक और लहर की चेतावनी दी, फ्रांस में 21,231 नए मामले सामने आए

February 14th, 2021

हाईलाइट

  • वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले विदेशियों पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • बाहर से आए लोगों पर निगाह रखें और जरूरत पड़ने पर उन्हें क्वारंटीन में रखें।
  • प्रकोप की एक नई लहर को रोकने के लिए एक सामान्य प्रयास का आह्वान किया

तेहरान (आईएएनएस)। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कड़े कोविड-19 सीमा नियंत्रणों का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि देश में महामारी की एक और लहर आ सकती है। उन्होंने शनिवार को तेहरान में नेशनल एंटी-कोविड हेडक्वाटर्स की बैठक में कहा, वायरस के नए वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले विदेशियों पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, रूहानी ने सभी स्थानीय अधिकारियों और इस्लामिक रेवोल्यूशन गार्ड कॉर्प्स के एक स्वयंसेवी बल, बासीज के सदस्यों के लिए इस बात पर बल दिया कि वे बाहर से आए लोगों पर निगाह रखें और ईरान के प्रोटकॉल के अनुसार, जरूरत पड़ने पर उन्हें क्वारंटीन में रखें।

राष्ट्रपति ने ईरानी नए साल नवरोज से पहले प्रकोप की एक नई लहर को रोकने के लिए एक सामान्य प्रयास का आह्वान किया, जिसमें वार्षिक उत्सव के सामाजिक और आर्थिक महत्व को बताया गया।

इसके अलावा, शनिवार को, खुजेस्तान प्रांत ने वायरस के प्रसार पर रेड अलर्ट घोषित किया। भले ही कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण सफल हो, रूहानी ने आगे कहा, लोगों को अभी भी सावधान रहना चाहिए और कम से कम एक वर्ष के लिए वर्तमान जीवन शैली को बनाए रखना चाहिए।

 अमेरिका में कोरोनावायरस वेरिएंट्स से संक्रमितों की संख्या 1,000 के करीब पहुंची

अमेरिका के कुल 44 राज्यों से कोरोनावायरस वेरिएंट्स के करीब 1,000 मामले दर्ज हुए हैं। अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के हालिया आंकड़ों में इनका खुलासा हुआ है। सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें से 981 मामले बी.1.1.7 के नाम से जाने जाने वाले वेरिएंट के हैं, जिसका पता मूल रूप से ब्रिटेन में पहले लगाया गया है। 13 मामले बी.1.351 के नाम से पुकारे जाने वाले वेरिएंट का है, जिसका इजात हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में किया गया है और तीन मामले पी.1 स्ट्रेन के हैं, जिन्हें सबसे पहले ब्राजील में पाया गया है।

सीडीसी के मुताबिक, ये तीन प्रमुख कोरोनावायरस वेरिएंट्स हैं, जिनका वर्तमान में यहां प्रसार हो रहा है। पिछले कुछ महीनों में कई सार्स-कोविड-2 वेरिएंट्स भी उभरे हैं, जो दुनिया भर के वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के लिए चिंता का विषय बना है।

फ्रांस में दर्ज कोविड-19 के 21,231 नए मामले

फ्रांस में कोविड-19 के 21,231 मामले दर्ज किए गए हैं और इसके साथ ही यहां संक्रमितों की कुल संख्या 3,448,617 हो गई है, जो कि दुनिया का छठा सबसे प्रभावित देश बना है। पब्लिक हेल्थ एजेंसी की वेबसाइट पर प्रकाशित आंकड़ों के मुताबिक, बीते दिन कोविड-19 से 199 लोगों की मौत हुई है, जो कि शुक्रवार से 320 कम है। फ्रांस में कोविड-19 से अब तक 81,647 लोग जान गंवा चुके है, जो ब्रिटेन और इटली के बाद यूरोप में तीसरे पायदान पर है और पूरी दुनिया में सातवें नंबर पर है।

पिछले सात दिनों में महामारी से 10,037 नए मरीज अस्पतालों में एडमिट हुए हैं, जिनमें से 1,795 मरीजों को गहन चिकित्सा विभाग में भर्ती कराया गया है। यहां के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है कि देश में अब तक 2,888,430 लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है, जबकि इनमें से 639,899 लोगों को इसके दो टीके लग चुके हैं।

फ्रांस का लक्ष्य मई के अंत तक अपने यहां के 65 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगवाना है और सभी वयस्कों का टीकाकरण अगस्त के अंत तक किए जाने का लक्ष्य बनाया गया है।

खबरें और भी हैं...