comScore

POK में पाक सेना के खिलाफ पत्रकारों का प्रदर्शन, ब्लैक डे पर किया था लाठीचार्ज

October 23rd, 2019 16:54 IST

हाईलाइट

  • मुजफ्फराबाद प्रेस क्लब के बाहर पत्रकारों ने बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया
  • पीओके के मुजफ्फराबाद में एक प्रेस क्लब पर पाक सेना ने छापा मारा था
  • इस दौरान कई पत्रकार घायल हो गए थे

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। मुजफ्फराबाद प्रेस क्लब के बाहर पाकिस्तान के पत्रकारों ने बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस ने मंगलवार को पीओके के मुजफ्फराबाद में एक प्रेस क्लब पर छापा मारा था, जिसमें कई पत्रकार घायल हो गए। जम्मू कश्मीर पीपुल्स नेशनल अलायंस (JKPNA) की मीडिया ब्रीफिंग के दौरान यह छापा मारा गया था।

एएनआई के अनुसार, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और पत्रकारों पर लाठीचार्ज करने के साथ-साथ उनके रिकॉर्डिंग उपकरण भी तोड़ दिए। जेकेपीएनए ने गुरुवार को लंदन में पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने दोपहर लगभग 01:00 बजे (स्थानीय समय) विरोध प्रदर्शन की घोषणा की है।

एक अन्य घटना में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में मंगलवार को प्रो फ्रीडम रैली के दौरान सुरक्षाबलों ने नागरिकों पर लाठीचार्ज  किया। इस लाठीचार्ज में दो लोगों की मौत हो गई जबकि 80 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

ANI की एक रिपोर्ट के अनुसार, PoK में ऑल इंडिपेंडेंट पार्टीज़ अलायंस (AIPA) के तहत विभिन्न राजनीतिक दलों ने मंगलवार को “काला ​​दिवस” मनाने के लिए मुज़फ़्फ़राबाद में प्रो फ्रीडम रैली का आह्वान किया था।

इसी दिन 1947 में पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर पर आक्रमण किया था। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया।

पीओके और गिलगित बाल्टिस्तान के लोगों 22 अक्टूबर को  "काला दिन" के रूप में मनाते हैं। काला दिवस मनाकर वह पाकिस्तान से अपना क्षेत्र छोड़ने की मांग करते हैं।

कमेंट करें
QWeBC