वाशिंगटन: मोदी हाई-टेक अवसरों को उजागर करने के लिए क्वॉलकॉम के सीईओ से मिले

September 23rd, 2021

हाईलाइट

  • मोदी हाई-टेक अवसरों को उजागर करने के लिए क्वॉलकॉम के सीईओ से मिले (लीड-1)

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वाशिंगटन में वायरलेस टेक्नोलॉजी दिग्गज क्वालकॉम के सीईओ क्रिस्टियानो अमोन संग बैठक के साथ भारत में अधिक निवेश और उद्यम निर्माण का स्वागत करने के लिए अपने अभियान की शुरुआत की।

बैठक के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, उन्होंने उत्पादक बातचीत की। पीएम मोदी ने भारत द्वारा प्रदान किए जाने वाले विशाल अवसरों पर प्रकाश डाला। श्री आमोन ने 5जी और अन्य डिजिटल इंडिया प्रयासों जैसे क्षेत्रों में भारत के साथ काम करने की इच्छा जताई।

आगे कहा गया है, उन्होंने भारत में हाई-टेक क्षेत्रों में निवेश के अवसरों, हाल के इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार विनिर्माण पीएलआई योजनाओं और नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने के उपायों पर चर्चा की।

जब क्वाड के नेता - मोदी, राष्ट्रपति जो बाइडेन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा और ऑस्ट्रेलिया के स्कॉट मॉरिसन शुक्रवार को मिलेंगे, तो सेमीकंडक्टर उनके एजेंडे में प्राथमिकता होगी।

अमेरिका और अन्य ने अपने सेमीकंडक्टर निर्माण में विविधता लाने की योजना बनाई है, क्योंकि इसके रणनीतिक महत्व से भारत को लाभ हो सकता है।

सेमीकंडक्टरों के लिए आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो गई है, जिसके परिणामस्वरूप डिजिटल उपकरणों से लेकर ऑटोमोबाइल तक का निर्माण अमेरिका के लिए रणनीतिक चिंता पैदा कर रहा है।

सीएनबीसी ने परामर्श फर्म, एलिक्स पार्टनर्स के हवाले से बताया कि चिप की कमी के कारण वैश्विक मोटर वाहन उद्योग को अकेले इस वर्ष राजस्व में 210 अरब डॉलर का नुकसान होगा।

जापान के व्यापार प्रकाशन निक्केई ने पिछले हफ्ते बताया कि क्वाड शिखर सम्मेलन के संयुक्त बयान का एक मसौदा सेमीकंडक्टरों के लिए एक सुरक्षित आपूर्ति श्रृंखला बनाने की दिशा में काम करने के लिए सहमत होगा।

मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में बाइडेन ने कहा था कि उभरती प्रौद्योगिकियों में चुनौतियों का सामना करने के लिए क्वाड को उन्नत किया जा रहा है।

लगभग 150 अरब डॉलर के मार्केट कैप के साथ क्वालकॉम, कैमरों से लेकर विमान तक हर चीज में इस्तेमाल होने वाले चिप्स के निर्माण में अग्रणी है और 5जी तकनीक में अग्रणी है।

मोदी ने सॉफ्टवेयर कंपनी एडोब, अक्षय ऊर्जा कंपनी फस्र्ट सोलर, हथियार निर्माता जनरल एटॉमिक्स और निवेश प्रबंधन कंपनी ब्लैकस्टोन के सीईओ के साथ आमने-सामने की बैठकें कीं।

(आईएएनएस)