दैनिक भास्कर हिंदी: मुंबई अटैक को लेकर दिए बयान पर कायम हैं नवाज, बोले- कुछ गलत नहीं कहा

May 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ 26/11 मुंबई अटैक पर दिए गए अपने बयान पर अभी भी कायम हैं। नवाज ने सोमवार को कहा है कि उन्होंने 2008 में हुए मुंबई अटैक के सम्बंध में जो कुछ भी कहा है, वह बिल्कुल सही कहा है। उसमें कुछ भी झूठ और गलत नहीं है। गौरतलब है कि नवाज ने दो दिन पहले पाकिस्तान के डॉन न्यूज पेपर को दिए इंटरव्यू में स्वीकार किया था कि मुंबई अटैक में पाकिस्तान का हाथ था। उन्होंने कहा था, 'हम सभी जानते हैं कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय हैं, क्या हमें उन्हें सीमा पार करने और मुंबई में 150 लोगों की हत्या करने की इजाजत देनी चाहिए?' नवाज शरीफ ने रावलपिंडी आतंकरोधी अदालत में मुंबई हमलों का ट्रायल लंबित होने पर भी सवाल उठाए थे। नवाज ने कहा था, 'हमने सुनवाई क्यों नहीं पूरी की? हमले में शामिल लोगों को सजा क्यों नहीं दी जा सकी? यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है।'

डॉन न्यूज पेपर को दिए इस इंटरव्यू के बाद पाकिस्तान में नवाज शरीफ का विरोध हो रहा है। पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (PPP) की नेता शेरी रहमान ने नवाज शरीफ के बयान की आलोचना करते हुए को कहा है कि शरीफ के बयान से आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान की लड़ाई के रुख का खंडन हुआ है। शेरी ने कहा कि नवाज शरीफ ने पीएम नरेंद्र मोदी के बयान की पुष्टि की है।

इस मामले में तहरीक-ए-इंसाफ के नेता और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने भी नवाज शरीफ की तुलना मीर जाफर से कर डाली थी। इमरान ने ट्वीट किया था, 'नवाज शरीफ आज के मीर जाफर हैं।' इमरान ने लिखा है कि नवाज शरीफ नरेंद्र मोदी की भाषा बोल रहे हैं। नवाज अपनी गलत ढंग से हासिल की गई 300 अरब रुपए की जायदाद को बचाने  के लिए पाकिस्तान के खिलाफ बोल रहे हैं।

बता दें कि 26 नवंबर 2008 को पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी समुद्र के रास्ते मुंबई में घुस आए थे। मुंबई में कई जगह गोलीबारी करते हुए ये आतंकी ताज होटल में घुस गए थे। इस हमले में करीब 166 लोगों की जान चली गई थी। वहीं, लगभग 300 लोग जख्मी हुए थे।