ओमिक्रॉन : प्रधानमंत्री किशिदा ने कहा चिंताओं के बीच सीमा पर अपने कड़े नियंत्रण जारी रखेगा जापान

December 22nd, 2021

हाईलाइट

  • एहतियाती उपायों को अपनाने की जरूरत

डिजिटल डेस्क, टोक्यो। जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने कहा है कि जापान कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर चिंताओं के बीच सीमा पर अपने कड़े नियंत्रण उपायों को फिलहाल जारी रखेगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार 16 दिनों के असाधारण आहार सत्र के बाद एक संवाददाता सम्मेलन में किशिदा ने कहा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट अभी कम्युनिटी में नहीं फैला है लेकिन देश को बूस्टर शॉट्स योजनाओं को तेज करके एहतियाती उपायों को अपनाने की जरूरत है।

अक्टूबर में प्रधानमंत्री बनने वाले किशिदा ने कोरोना वायरस विरोधी उपायों को प्राथमिकता देते हुए कहा, ओमिक्रॉन वेरिएंट कितना संक्रामक है और यह बीमारी कितनी गंभीर है। इसके बारे में वैज्ञानिक मूल्यांकन अभी तक सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा हमने मौजूदा सीमा नियंत्रण उपायों (नवंबर के अंत में लागू) को फिलहाल बढ़ाने का फैसला किया है।

सरकार ने विदेशों से आने वाले विदेशी नागरिकों के देश में आने पर प्रतिबंध लगा दिया है जबकि जापानी नागरिकों के विदेशों से आने पर उन्हें सरकारी सुविधाओं में क्वारंटीन में रहना होगा।प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि जो लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए, उनका जापान में ओमिक्रॉन वेरिएंट के लिए परीक्षण किया जाएगा।

देश वर्तमान में अपने टीकाकरण कार्यक्रम में तेजी लाने की कोशिश कर रहा है। कोरोना वायरस टीकों के तीसरे शॉट को रोल आउट कर रहा है और स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता दे रहा है।

 

(आईएएनएस)