• Dainik Bhaskar Hindi
  • International
  • America said that it is possible to remove the Russian army only, people were alerted to stay in the shelter by playing sirens in Kharkiv

रूस- यूक्रेन युद्ध का आठवां दिन: यूक्रेन ने रूसी सैनिकों को मार गिराया!, रूसी टैंक को भी जलाया

March 4th, 2022

हाईलाइट

  • रूस के हमले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव
  • रूस के खिलाफ मतदान में 141 देश शामिल

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में यूक्रेनी सैनिकों ने रूसी सैनिकों को मार गिराया है। एक यूक्रेनी यूजर्स ने एक वीडियो ट्वीट किया है जिसमें देखा जा सकता कि यूक्रेनी सैनिक बंदूक लेकर सड़क पर घूम रहे हैं।

कुछ मरे हुए सैनिक जमीन पर पड़े हैं, जो रूसी सैनिक बताए जा रहे हैं। यूक्रेनी सैनिकों ने रूसी टैंक को भी आग के हवाले कर दिया है जो कि वीडियो में साफ दिख रहा है। यूक्रेनी सैनिक के कंधे पर पीले रंग का हाथ बैज् लगा है और वर्दी पहने हुए हैं, वहीं रूसी सैनिकों के कंधे पर सफेद रंग का हाथ बैज् है, जो गहरे रंग की वर्दी पहने हैं।

यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध के बीच खबर आ रही है कि रूसी सेना ने यूक्रेन के बंदरगाह शहर मारियुपोस की चारों तरफ से घेर लिया है। रूसी सेना की लगातार बमबारी से कई मकान तबाह हो गए हैं। खबरों के मुताबिक कई यूक्रेनी नागरिकों की मौत भी हो चुकी है। युद्ध इतना भीषण है कि बहुत से नागरिक फंसे हुए हैं। लोगों का कहना है कि हम अपनी महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को नहीं निकाल सके।

यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध में एक वीडियो सामने आया है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि रूसी सेना के टैंक को यूक्रेनी सेना ने जला दिया है, जो कि वीडियो में दिखाई भी दे रहा है।

यूक्रेन और रूस के बीच युद्द का आज आठवां दिन हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने पुतिन को यूक्रेन छोड़ने या बातचीत के लिए उनसे मिलने के लिए कहा है। मीडिया के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने रूसी तानाशाह व्लादिमीर पुतिन को आपस मेंं बैठकर बातचीत करने के लिए कहा है। जेलेंस्की ने पुतिन से पूछा कि तुम किससे डरते हो?

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में चेर्निहाइव हवाई आवासीय क्षेत्रों पर रूसी सेना द्वारा किए गए हमले में 33 लोगों की मौत हो गई तथा 10 लोगों के घायल होने की खबर है। रूसी सेना धीरे-धीरे कीव की ओर बढ़ रही है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन यूक्रेन पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने के कहा है कि यूक्रेन में भारतीय नागरिकों को बंधक बनाया गया है। पुतिन ने कहा कि यूक्रेन ने करीब 3 हजार लोगों को बंधक बनाया है। रूस के राष्ट्रपति पुतिन के इस दावे ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नया सवाल खड़ा कर दिया है। 

गुरुवार को सिक्योरिटी काउंसिल के साथ हुई बैठक के बाद पुतिन का ये बयान हैरान करने वाला है। पुतिन ने यूक्रेन पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूक्रेन विदेशी नागरिकों को ढाल बना रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सेना वहां से नागरिकों को निकलने में मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि चीनी नागरिकों को भी बंधक बनाया गया है। 

रूस और यूक्रेन के बीच जंग का आज (03 मार्च 2022, गुरुवार) आठवां दिन है। दोनों देशों के बीच इस संघर्ष में रूस आक्रामक दिखाई दे रहा है और वह यूक्रेन पर लगातार हमले कर रहा है। रूसी सेना ने यूक्रेन की राजधानी कीव को चारों ओर से घेर लिया है। वहीं बुधवार को खारकीव में किए गए हमले में  शहर पूरी तरह से उजड़ चुका है. यहां तबाही के मंजर को साफ तौर पर देखा जा सकता है, कि कैसे करीब 15 लाख की आबादी वाला यह शहर खंडर बन गया। 

इस जंग के बीच संयुक्त राष्ट्र महासभा ने यूक्रेन से रूसी सेना की वापसी का प्रस्ताव भी पारित कर दिया है। फिलहाल दोनों देशों के बीच आज दूसरे दौर की बातचीत होना है, जिसमें युद्ध को लेकर कुछ हल निकाले जाने की आशंका  जताई जा रही है।

बेलारूस के लिए उड़ान

यूक्रेनी प्रतिनिधिमंडल ने रूसी प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत के लिए बेलारूस के लिए उड़ान भरी।

रूसी विमान ने की गोलाबारी

देखें, चेर्निहाइव में, एक रूसी विमान ने शहर के केंद्र में अपार्टमेंट इमारतों पर गोलीबारी की।

चेर्निहाइव पर गोलाबारी
रूस ने चेर्निहाइव पर गोलाबारी तेजी कर दी है। ऐसे में कहा जा रहा है कि, चेर्निहाइव के आसपास घूमना अब खतरनाक है।

जवाब देगी यूक्रेनी सेना
रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेन की सेना ने साफ किया है वह अब बचाव की तरफ कदम नहीं बढ़ाएंगे। बल्कि जवाबी कार्रवाई की तरफ बढ़ेंगे।

फ्रांस के राष्ट्रपति की पुतिन से बात
इस भीषण जंग के बीच खबर है कि, फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने पुतिन के साथ बातचीत की है। रिपोर्ट के अनुसार, मैक्रों ने पुतिन से 90 मिनट तक बातचीत की है। 

खेरसन पर रूस का कब्जा
खेरसन के गवर्नर ने कहा है कि, रूस ने यूक्रेन के खेरसन शहर पर कब्जा कर लिया है।

यूक्रेन राष्ट्रपति बोले, रूस को हर कीमत चुकाना होगी
यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम एक नए वीडियो संबोधन में कहा कि उनके देश की डिफेंस लाइन्स मजबूत हैं, लेकिन रूस ने मध्यरात्रि से बड़े शहरों में गोलाबारी जारी रखी है। फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में राष्ट्रपति ने कहा कि रूस की रणनीति में बदलाव, जो कि नागरिक क्षेत्रों को लक्षित करना है, दिखाता है कि यूक्रेन भूमि हमले के माध्यम से मॉस्को की त्वरित जीत की योजना का विरोध करने में सफल रहा है।

जेलेंस्की ने कहा, हमारे पास अपनी स्वतंत्रता के अलावा खोने के लिए कुछ भी नहीं है। यूक्रेन को अपने अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों से दैनिक हथियारों की आपूर्ति मिल रही है। उन्होंने कहा, हम हर घर, हर गली, हर शहर को बहाल करेंगे। रूस को संदेश देते हुए यूक्रेनी राष्ट्रपति ने कहा, आप यूक्रेन के खिलाफ किए गए हर काम की कीमत चुकाएंगे। हम मरने वालों को नहीं भूलेंगे और भगवान हमारे साथ हैं।

रूसी सेना को बड़ा नुकसान: यूक्रेन
दूसरी ओर यूक्रेन की ओर से रुसी सेना बड़ा नुकसान पहुंचाने का दावा किया जा रहा है। KyivPost के अनसुार, जंग के आठवें दिन यूक्रेन ने रूस के 30 प्लेन, 374 ऑटो मोबाइल्स टेक्निक्स, 42  MLRS, 900 AFV, 31 हेलीकॉप्टर, 90 आर्टिलेरियन सिस्टम, 2 कटर, 217 टैंक, 11 एंटीएयर डिफेंस, 3 यूएवी का नुकसान उठाना पड़ा है। इसके अलावा अब तक 9000 रूसी सैनिक भी मारे गए हैं।

रूसी मेजर की मौत
रूस और यूक्रेन की जंग के बीच रूसी मेजर की मौत की खबर सामने आई है। न्यूज एजेंसी NEXTA के अनुसार, यूक्रेन में रूस के मेजर जनरल आंद्रेई सुखोवत्स्की की मौत हो गई है।

227 नागरिक मारे गए
इस जंग में आम नागरिकों को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। कई लोगों को इस जंग में अपनी जान भी गंवानी पड़ी है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार ने यह दावा किया है कि, अब तक यूक्रेन में करीब 227 नागरिक मारे गए हैं वहीं 525 अन्य घायल हो गए हैं।

आम लोगों को मारने का आदेश
यूक्रेन का दावा है कि उसने रूस के कई सैनिकों को पकड़ा है। पकड़े गए एक सैनिक ने कहा है कि, उसको आम नागरिकों को मारने का भी आदेश था और वह फरवरी में यूक्रेन आया था। 

रूस का बड़ा बयान
रूसी यूक्रेन की जंग के बीच रूसी विदेश मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि, यूक्रेन संकट को खत्म कर लिया जाएगा, इसमें शक की बात नहीं है। साथ ही कहा कि, यूक्रेन वॉशिंगटन (अमेरिका) से ऑर्डर लेता है।

यूक्रेनी राष्ट्रपति का नया बयान
रूस और यूक्रन के बीच जंग तेजी होती नजर आ रही है। इसी बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि, यूक्रेन रूस के सैनिकों के शवों से ढकना नहीं चाहता है। उन्होंने अपने बयान में एक हफ्ते में 9 हजार से ज्यादा रूसी सैनिकों को मारने का दावा किया। इनमें 217 टैंक, 900 APV, 90 तोप, 11 एंटी एयरक्राफ्ट सिस्टम, 31 हेलिकॉप्टर, 30 एयरक्राफ्ट, 60 फ्यूल टैंक आदि शामिल हैं।

रूस के विमान को मार गिराया
यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि, उन्होंने रूस के सुखोई 30 विमान को मार गिराया है। इस विमान को कीव से 40 किलोमीटर दूर गिराया है। उन्होंने दावा किया कि, यूक्रेन के एयर डिफेंस सिस्टम ने अब तक 30 रूसी फाइटर जेट, 20 हेलिकॉप्टर को तबाह किया है। 

तेल डिपो पर हमला
रूसी सेना के हमले से चर्निहाइव का तेल डिपो जलकर खाक, आसमान तक उड़ता दिखा काला धुआं।

समंदर के रास्ते हमला
ब्लैक सी के रास्ते भी रूस की सेनाएं कर सकती हैं यूक्रेन पर हमला। अमेरिका की ओर से ये चेतावनी जारी की गई है कि रूस समुद्र के रास्ते यूक्रेन के शहर ओडेसा पर हमला कर सकता है। ओडेसा पर कब्जा जमाने के लिए  रूस का बड़ा समुद्री बेड़ा क्रिमिया से यूक्रेन की तरफ बढ़ रहा है। ओडेसा यूक्रेन का तटीय शहर है। माना जा रहा है इस शहर पर रूसी कब्जे के बाद यूक्रेन समंदर के रास्ते भी मदद हासिल नहीं कर सकेगा। क्योंकि यूक्रेन की समुद्री सीमाओं पर भी रूस का कब्जा हो जाएगा।

पांच शहरों पर हमला
यूक्रेन पर कब्जा करने की दिशा में रूस का बड़ा कदम। एक एक कर हर शहर में हमला करने की जगह अब एक साथ पांच शहरों में रूस कर सकता है हमला। एक साथ पांच शहरों में सायरन बजने के बाद हमलों में तेजी की आशंका। बंकरों और मेट्रो स्टेशनों में छिपने पर मजबूर हो रहे हैं लोग।

80 फीसदी रूसी जवानों को मारा
यूक्रेन द्वारा दावा किया जा रहा है कि, इस युद्ध में यूक्रेन रूसी सेना को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। Ukrinform की रिपोर्ट के मुताबिक, Saratov से आई रूसी सेना की यूनिट के 80 फीसदी जवानों को मार दिया गया है। 

यही नहीं दावा यह भी किया गया है कि, 2 मार्च तक रूस के 5840 जवान मारे गए। इसमें Kamyshin यूनिट के 70 फीसदी और Saratov यूनिट के 80 फीसदी जवान शामिल हैं। इसके अलावा 30 विमान, 31 हेलीकॉप्टर, 211 टैंक, 862 पैदल सेना से लड़ने वाले वाहन, 2 नावें नष्ट की गई हैं।

ऑपरेशन गंगा
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया है कि ऑपरेशन गंगा के तहत 3,726 भारतीयों को आज बुखारेस्ट से 8 फ्लाइट, सुसेवा से 2 फ्लाइट, कोसिसे से 1 फ्लाइट, बुडापेस्ट से 5 फ्लाइट और रेजजो से 3 फ्लाइट (कुल 19) से भारत वापस लाया जाएगा।

देखें: खेरसॉन में विस्फोट का वीडियो।

यूक्रेन ने चेतावनी जारी की
यूक्रेन ने कीव और कीव ओब्लास्ट, खमेलनित्स्की ओब्लास्ट, पोल्टावा ओब्लास्ट, चर्कासी ओब्लास्ट, चेर्निहाइव ओब्लास्ट, वोलिन ओब्लास्ट, किरोवोह्रद ओब्लास्ट, मायकोलाइव, फ्रैंकिव्स्क, चेर्निहाइव, ल्वीव, ज़ाइटॉमिर, इवानो-और   ज़ापोरिज़्ज़िया और ओडेसा में हवाई हमले की चेतावनी जारी की है।

यूक्रेन का मुंहतोड़ जवाब
यूक्रेन का दावा है कि, इस जंग के पहले सात दिनों में रूस ने यूक्रेन के करीब 2000 बेगुनाह नागरिकों की जान ली है। इस जंग में रूस द्वारा फैलाई जाने वाली तबाही का जवाब भी यूक्रेन द्वारा दिया जा रहा है। यूक्रेन के अनुसार, रूस ने अब तक 4,300 सैनिक और 146 टैंक खो दिए हैं।

गलत हुआ रूस का दावा
रूस ने दावा किया कि, यूक्रेन ने भारतीय छात्रों को बंधक बनाया है। हालांकि भारत के विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा है कि, भारत को किसी छात्र को बंधक बनाने की जानकारी नहीं मिली है। विदेश मंत्रालय से प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि भारतीय दूतावास लगातार भारतीय लोगों के संपर्क में है और यूक्रेनी अथॉरिटी की मदद से भारतीय छात्रों को निकाला जा रहा है।

कीव में साउथ स्टेशन पर रॉकेट हमले का क्षण वीडियो में कैद हो गया।

सुबह हुए चार धमाके
जेलेंस्की के वीडियो संबोधन के कुछ ही घंटों बाद, कीव में गुरुवार सुबह चार विस्फोट हुए। चार विस्फोटों में से दो कथित तौर पर सिटी सेंटर में और दो अन्य मेट्रो स्टेशन के पास हुए। विस्फोटों के बाद राजधानी शहर में हवाई हमले के लगातार सायरन सुनाई दिए।

यूक्रेन के राष्ट्रपति का वीडियो संदेश
यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की ने वीडियो संदेश में अपने देश के नागरिकों से रूस के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का आग्रह किया है। बुधवार देर रात फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में, राष्ट्रपति ने कहा, हर कब्जे वाले को पता होना चाहिए, उन्हें यूक्रेनियन से हमले पर जवाब मिलेगा। हम एक ऐसे राष्ट्र से आते हैं, जिसने एक हफ्ते में दुश्मन की योजनाओं को तोड़ दिया।

रूसी सैनिकों का खेरसॉन पर कब्जा
गुरुवार सुबह, दक्षिणी यूक्रेन के एक प्रमुख बंदरगाह शहर खेरसॉन के मेयर इगोर कोल्यखेव ने दावा किया कि रूसी सैनिकों ने वहां कब्जा कर लिया है। उन्होंने कहा कि, रूसी सेना अब खेरसॉन के नियंत्रण में है और सैनिकों ने वहां कर्फ्यू लगा दिया है।

इस बीच, यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव में, रूसी सेना गोले से हमला करती रही, कथित तौर पर दर्जनों नागरिक मारे गए और घायल हुए, जबकि सैनिकों ने बंदरगाह शहर मारियुपोल को भी घेर लिया।

भारतीयों के लिए अभियान हुआ तेज
इस युद्ध के बीच यूक्रेन में अभी भी कई भारतीय नागरिक फंसे हुए हैं। इन्हें निकालने के लिए भारतीय वायु सेना ने अपने अभियान को तेज कर दिया है। गुरुवार को पोलैंड से भारतीय वायु सेना का तीसरा C-17 विमान हिंडन एयरपोर्ट पहुंचा। इस दौरान केंद्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट ने भारतीय नागरिकों का स्वागत किया। 

दिल्ली एयरपोर्ट पर छात्रा का स्वागत
यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को लेकर बुडापेस्ट से विशेष विमान दिल्ली के हवाई अड्डे पर पहुंचा। इस दौरान एयरपोर्ट पर छात्रों के परिजनों ने उनका स्वागत किया।

10 लाख लोगों ने देश छोड़ा
रूस और यूक्रेन के बीच इस जंग में आमजनों को खासा परेशानी उठानी पड़ी है। UNHCR के अनुसार, सिर्फ सात दिनों में यूक्रेन छोड़ने वाले नागरिकों की संख्या 10 लाख के पार पहुंच गई है।

बांग्लादेशी जहाज हुआ​​ शिकार
यूक्रेनी मीडिया के अनुसार, रूस द्वारा किए जा रहे हमलों में यूक्रेनी पोर्ट पर मौजूद बांग्लादेशी जहाज भी रूसी मिसाइल की चपेट में आ गया। इसमें एक क्रू मेंबर की भी मौत हो गई है जो कि बांग्लादेशी था।

भारत को छोड़कर रूस ने हटाए इन देशों के झंडे 
रूस ने अपने स्‍पेस रॉकेट से कई देशों के फ्लैग हटा दिए हैं। रूसी अंतरिक्ष रॉकेट से भारत के तिरंगे को छोड़कर रूस ने अमेरिका, ब्रिटेन और जापान के झंडे हटा दिया है। इसका एक वीडियो भी रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख दिमित्री रोगाजिन ने शेयर किया है। 

वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा, "बैकोनूर में हमारी टीम ने फैसला किया कि हमारा रॉकेट कुछ देशों के झंडे के बिना बेहतर दिखेगा।" वीडियो में देखा जा सकता है कि जहां भारतीय ध्वज रॉकेट पर लगा हुआ है, तो वहीं यूएस, जापान, यूके के झंडे हटाए जा रहे हैं। कजाकिस्तान के बैकोनूर में रूसी लॉन्च पैड से रूसी अंतरिक्ष रॉकेट से ये झंडे हटा दिए गए हैं।

रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव 
आपको बता दें कि, संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव बहुमत के साथ पारित हो गया है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में यूक्रेन में जारी रूस के हमले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पर महासभा में आपात बैठक कर कल बुधवार को वोटिंग हुई। सभा में प्रस्ताव के जरिए रूस से यूक्रेन से अपना सैन्य बल हटाने की मांग की है।

रूस के खिलाफ इस मतदान में 141 देशों ने मतदान किया। वहीं भारत समेत 35 देश मतदान में शामिल नहीं हुए। जबकि 5 देशों ने रूस का समर्थन किया।