comScore

अफगानिस्तान: आतंकी हमले में 11 सिख सहित 19 की मौत, पीएम मोदी ने की निंदा

July 02nd, 2018 14:28 IST

हाईलाइट

  • अफगानिस्तान में आत्मघाती हमले में सिख समुदाय के 11 नागरिकों सहित 19 लोगों की मौत हो गई है।
  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दुख जताया है।
  • पीएम मोदी ने ट्वीट किया है, 'अफगानिस्तान में हुए हमले की निंदा करता हूं।

डिजिटल डेस्क, काबुल। अफगानिस्तान में आत्मघाती हमले में सिख समुदाय के 11 नागरिकों सहित 19 लोगों की मौत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मारे गए हिंदुओं और सिखों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए इस हादसे की निंदा की है। वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी दुख जताया है।

अफगानिस्तान हमले में मारे गए 11 सिखों के लिए अमृतसर स्वर्ण मंदिर में विशेष प्रार्थना की गई।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया है, 'अफगानिस्तान में हुए हमले की निंदा करता हूं। यह अफगानिस्तान के बहुसांस्कृतिक ढांचे पर हमला है। मेरी संवेदना शोकसंतप्त परिवार के साथ हैं। मैं प्रार्थना करता हूं कि घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं। भारत दुख की इस घड़ी में अफगानिस्तान की मदद के लिए तैयार है।'

वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट किया है कि इस घड़ी में हम उनके साथ हैं। सुषमा स्वराज आज पीड़ित परिवार से मुलाकात भी करेंगी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने इस हादसे को सोच-समझकर किया गया हमला बताया है। साथ ही उन्होंने कहा अफगानिस्तान सरकार की जिम्मेदारी है कि वो लोगों को सुरक्षा उपलब्ध कराए। मैं देश की सरकार को अफगानिस्तान सरकार से बात करके दोषियों को मौत की सजा दिलवाने की मांग करता हूं।


 

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस हादसे पीछे आतंकी संगठन ISI का हाथ बताया है। उन्होंने ट्वीट किया है, अफगान राष्ट्रपति से मिलने गए सिखों के प्रतिनिधिमंडल और अन्य लोगों पर ISI की तरफ से किए गए घातक हमले की कड़ी निंदा करता हूं। उन्होने अपील की है कि ऐसी आतंकी शक्तियों के खिलाफ सब मिलकर एक सुर में आवाज उठाएं। 

दरअसल रविवार को अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत की राजधानी जलालाबाद में आत्मघाती हमला हुआ था। आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था। ब्लास्ट में करीब 19 लोगों की मौत हुई है, जिनमें 11 सिख शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक हमलावर ने जलालाबाद में आये अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से मिलने के लिए सिखों और हिंदुओं के एक दल को निशाना बनाया। 

नांगरहार पुलिस ने बताया जब यह प्रतिनिधिमंडल तीन वाहनों में राष्ट्रपति से मिलने गवर्नर हाउस की तरफ जा रहा था, तभी आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। हालांकि, अवतार सिंह खालसा इस हमले में मारे गए, लेकिन उनका बेटा नरेंद्र सिंह बच गया जो कि घायल होने के वजह से अस्पताल में भर्ती है। बताया गया कि राष्ट्रपति गनी दो दिवसीय यात्रा के तहत रविवार को एक अस्पताल का उद्घाटन करने के लिए जलालाबाद पहुंचे थे। स्थानीय सिख नेता अवतार सिंह खालसा को हिंदू और सिख समुदाय के प्रतिनिधि के तौर पर देखा जाता है। 

वहीं दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमिटी की तरफ से मारे गए सभी 11 सिखों का नाम की लिस्ट भी जारी की गई है। मृतकों (सिख) के नाम- 1. अनूप सिंह, 2. मेहर सिंह, 3. रवैल सिंह, 4. अवतार सिंह, 5. अमरीक सिंह, 6. मंजीत सिंह, 7. इंद्रजीत सिंह, 8. तरनजीत सिंह, 9. बलजीत सिंह, 10. सतनाम सिंह, 11. राजू गजनेची। हमले में 20 लोग घायल भी हुए हैं। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक मरने वालों में हिंदू भी शामिल हैं। 

गौरतलब है कि अफगानिस्तान में 249 सीटों के लिए 20 अक्टूबर को आम चुनाव होने वाले हैं। अभी तक 600 सिखों और हिंदुओं ने मतदान के लिए पंजीकरण कराया है। इस चुनाव में अवतार सिंह भी मैदान पर उतरने वाले थे।


 

कमेंट करें
EOiQo