तालिबानी प्रवक्ता : घर घर तलाशी अभियान के नतीजे सकारात्मक रहे

February 28th, 2022

हाईलाइट

  • पहले भी इस्लामिक अमीरात द्वारा घर-घर तलाशी की शिकायत की थी

डिजिटल डेस्क, काबुल। अफगानिस्तान में घर घर तलाशी अभियान के नतीजे काफी सकारात्मक रहे हैं और इस दौरान भारी मात्रा में हथियार तथा गोला बारूद बरामद किया गया है। इसके अलावा इस अभियान में दाएश लड़ाकों, लुटेरों तथा अपहरणकर्ताओं को भी धर दबोचा गया है।

इस्लामिक अमीरात के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने रविवार को काबुल में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हाल ही में घर घर तलाशी अभियान का उद्देश्य अपराधियों को पकड़ना था, जिनमें से कुछ को सरकार बदलने के दौरान जेल से रिहा कर दिया गया था।

टोलोन्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, मुजाहिद ने बताया कि इस्लामिक अमीरात के घरों की तलाशी लेने वाली सेना में महिलाएं थीं और केवल संदिग्ध क्षेत्रों की तलाशी ली गई थी। उन्होंने कहा कि इस दौरान नौ अपहरणकर्ता, दाएश से जुड़े छह लड़ाकों और 53 लुटेरों को हिरासत में लिया गया है।

इस बीच काबुल के कुछ निवासियों ने कहा कि इस्लामिक अमीरात बलों ने उनके घरों पर छापा मारा था। काबुल निवासी अली यासर ने कहा, उन्होंने कहा था कि परिवार को घर के अंदर रहना चाहिए और जिस कमरे में महिलाएं थीं उसे छोड़कर सभी कमरों की तलाशी ली गई थी। रविवार सुबह करीब 10:30 बजे तालिबानी सुरक्षा बल आए और उनमें एक महिला भी थी। उन्होंने घरों में तलाशी अभियान चलाया।

राजधानी के निवासियों ने पहले भी इस्लामिक अमीरात द्वारा घर-घर तलाशी की शिकायत की थी। मुजाहिद ने कहा कि अभियान के दौरान काबुल में एक घर में जंजीरों से बंधी दो लड़कियां मिलीं। उन्होंने कहा कि स्थिति के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए जांच की जा रही है।

प्रवक्ता ने वित्तीय गतिविधियों की अनुमति देने वाले नए अमेरिकी लाइसेंस का स्वागत करते हुए अन्य प्रतिबंधों को हटाने तथा राजनयिक प्रयासों के विस्तार का आग्रह किया है। मुजाहिद ने कहा कि इस्लामिक अमीरात उन लोगों के खिलाफ है जो अपने परिवारों के साथ देश छोड़ कर जा रहे हैं, क्योंकि विदेशों में अफगानी गंभीर समस्याओं का सामना करते हैं।

उन्होंने कहा, इस्लामिक मूल्यों के आधार पर महिलाओं को बिना पुरुष के यात्रा करने की अनुमति नहीं है और विदेशों में पढ़ रही छात्राओं के बारे में इस मामले में विचार किया जा रहा है।हिरासत में ली गई महिला प्रदर्शनकारियों के बारे में पूछे जाने पर मुजाहिद ने कहा कि इस बारे में कोई नई जानकारी नहीं है और अटॉर्नी जनरल का कार्यालय मामले की जांच कर रहा है। सूचना और संस्कृति के उप मंत्री का पदभार संभाल रहे मुजाहिद ने डूरंड रेखा पार करने वाले लोगों के बारे में कहा कि यह स्थानीय विवाद है और इस्लामिक अमीरात पड़ोसियों के साथ विवादों को बढ़ावा देने के पक्ष में नहीं हैं।

 

(आईएएनएस)