दैनिक भास्कर हिंदी: डोनाल्‍ड ट्रंप ने दी भारत के साथ व्‍यापारिक संबंध खत्‍म करने की चेतावनी

June 13th, 2018

हाईलाइट

  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत सरकार की आयात नीति पर तंज किया।
  • राष्ट्रपति ट्रंप बोले ज्यादातर देशों ने अमेरिका को 'पिगी बैंक' समझ रखा है।
  • भारत अमेरिकी उत्पादों पर 100 फीसदी आयात शुल्क लेता है।

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के उत्पादों पर ज्यादा शुल्क लगाने वाले सभी देशों को आगाह किया है। उन्होंने ऐसे देशों से व्यापार संबंध खत्म करने की धमकी दी है। कनाडा में आयोजित G-7 देशों के प्रमुखों की बैठक के बाद ट्रंप ने अन्य देशों के साथ भारत पर भी करारा हमला बोला है। ट्रंप ने भारत सरकार की आयात नीति पर तंज किया। ट्रंप के बयान के बाद भारत भी आगाह हो गया है। ट्रंप यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को ऐसा लगता है कि वह अमेरिका पर कोई एहसान कर रहे हैं। अमेरिका निष्पक्ष और वाजिब डील चाहता है। 

 

100% आयात शुल्क को लेकर की आलोचना

ट्रंप के इस बयान को दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को लेकर अहम माना जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि ज्यादातर देशों ने अमेरिका को 'पिगी बैंक' यानी गुल्लक समझ रखा है। अमेरिका के साथ 'नाइंसाफी करने वाले देशों' के साथ व्यापार बंद करने की चेतावनी देते हुए ट्रंप ने कहा कि भारत अमेरिकी उत्पादों पर 100 फीसदी आयात शुल्क लेता है।प्रेसीडेंट ट्रंप ने इस साल की शुरुआत में हार्ले-डेविडसन पर भारत में 100% आयात शुल्क लगाए जाने की आलोचना की थी। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका में आयात होने वाले 'हजारों-हजार' भारतीय मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क बढ़ाने की धमकी दी थी।

 

आयात शुल्क घटाकर 0% करने की मांग

उन्होंने कहा कि आयात शुल्क 75% से घटाकर 50% करने का भारत सरकार का फैसला सही नहीं है। अमेरिका मोटरसाइकिलों पर कोई आयात शुल्क नहीं लगाता है। ऐसे में भारत को भी आयात शुल्क घटाकर 0% करना चाहिए। भारत का जिक्र करते हुए ट्रंप ने संकेत दिए कि शुल्क दरों को लेकर उनकी चिंताएं केवल विकसित अर्थव्यवस्थाओं तक सीमित नहीं हैं। उन्होंने सभी देशों को आगाह किया कि हम बात कर रहे हैं,यह रुकेगा, या फिर हम उनसे कारोबार करना बंद करेंगे।

 

चीन को भी दी धमकी

प्रेसीडेंट ट्रंप का यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब भारत-अमेरिका संबंध कई साल से सकारात्मक राह पर हैं। बता दें कि दोनों देशों का द्विपक्षीय व्यापार पिछले साल बढ़कर 125 अरब डॉलर हो गया जो कि रिकॉर्ड है। ट्रंप की धमकी से साफ है कि पीएम मोदी गर्मजोशी का असर कमजोर पड़ने लगा है। ट्रंप व्‍यापार असंतुलन की मौजूदा स्थिति से बेहद असंतुष्‍ट हैं। वह चीन को भी कड़ी चेतावनी दे चुके हैं। उन्‍होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका भारतीय उत्‍पादों पर भी आयात शुल्‍क बढ़ा सकता है।