comScore

Covid-19 Ban: इस देश में बैन है ‘कोरोना’, नाम लिया तो होगी जेल, मास्क लगाने पर भी पाबंदी

Covid-19 Ban: इस देश में बैन है ‘कोरोना’, नाम लिया तो होगी जेल, मास्क लगाने पर भी पाबंदी

हाईलाइट

  • तुर्कमेनिस्तान में कोरोना वायरस शब्द पर बैन
  • सरकार ने मास्क पहनने पर भी लगाया प्रतिबंध
  • कोरोना वायरस पर बात करने की भी आजादी नहीं

डिजिटल डेस्क, अश्गाबात (तुर्कमेनिस्तान)। नोवल कोरोनावायरस महामारी (Novel Coronavirus) से पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ है। दुनिया की महाशक्ति माने जाने वाले- अमेरिका, इटली, स्पेन, चीन, जर्मनी, फ्रांस समेत 200 से ज्यादा देश इस वायरस की चपेट में हैं। लाखों लोग संक्रमित हैं, मरने वालों का आंकड़ा 47 हजार के पार पहुंच गया है। हालांकि कोविड-19 से निपटने के लिए हर देश की सरकारें लॉकडाउन से लेकर कई कड़े प्रतिबंध लगा रही हैं, लेकिन मध्य एशिया के देश तुर्कमेनिस्तान (Turkmenistan) में कोरोनावायरस शब्द के इस्तेमाल पर ही प्रतिबंध लगा दिया गया। यानी देश में कोई भी व्यक्ति न तो कोरोना शब्द को लिख सकता है और न ही इसको लेकर कोई बात कर सकता है। अगर ऐसा करते कोई व्यक्ति पाया जाता है तो सरकार उसे जेल भी भेज सकती है। इतना ही नहीं यहां मास्क पहनने पर भी पाबंदी लगाई गई है। 

कोरोना शब्द का इस्तेमाल करने वाले को होगी जेल
दरअसल कुछ देश अभी भी कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण से बचे हुए हैं। कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित ईरान के पड़ोसी देश तुर्कमेनिस्तान में अधिकारिक तौर पर अभी तक कोरोना संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आया है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि, तुर्कमेनिस्तान में कोरोनावायरस शब्द लिखने या इसके बारे में कुछ भी बात करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सरकार ने पुलिस को इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तार कर जेल भेजने का आदेश दिया है।

साफ-सफाई पर भी दिया जा रहा ध्यान
हालांकि सरकार तमाम एहतियात भी बरत रही है, स्टेशनों पर तापमान जांच करने की मशीन लगाई जा रही है। भीड़-भाड़ वाले इलाकों को साफ किया जा रहा है। इसके अलावा, देश के भीतर नागरिकों की आवाजाही भी प्रतिबंधित की जा रही है। इसी बीच सरकार ने कोराना वायरस शब्द के इस्तेमाल पर भी पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया। कोरोना वायरस शब्द का बातचीत या किसी अन्य तरीके से इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

COVID-19 World Live: इटली में अब तक 13 हजार से ज्यादा की मौत, ब्राजील में 240 ने गवाई जान

मीडिया भी नहीं कर सकती कोरोना शब्द का इस्तेमाल
‘द इंडिपेंडेंट’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तुर्कमेनिस्तान की सरकार ने स्थानीय मीडिया और स्वास्थ्य सूचना ब्रोशर में भी कोरोना वायरस शब्द को प्रतिबंधित किया है। सरकार के फरमान के बाद स्थानीय मीडिया और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लोगों को महामारी के बारे में जागरूक करने के लिए बांटे जा रहे ब्रोशर में भी कोरोना शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है।

जगह-जगह पुलिस के एजेंट तैनात
कोरोना वायरस महामारी को लेकर बातचीत करने पर भी पुलिस लोगों को हिरासत में ले रही है। रेडियो अजाटलिक के रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस के विशेष एजेंट सादे कपड़ों में जगह-जगह लोगों के बीच में मौजूद हैं, जो छुपकर उनकी बातें सुनते हैं जिससे कोरोना को लेकर बात करने वालों की पहचान की जा सके।

Covid-19 Outbreak: कोरोना से हरियाणा में पहली मौत, 67 साल के बुजुर्ग ने तोड़ा दम

कमेंट करें
4gRW7