comScore

US: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के खिलाफ खोला मोर्चा, WHO से भी तोड़े सारे संबंध


हाईलाइट

  • चीन के कन्ट्रोल में डब्ल्यूएचओ- राष्ट्रपति ट्रंप
  • चीन ने डब्ल्यूएचओ पर दबाव बनाया - डोनाल्ड ट्रंप

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। कोरोनावायरस और हांगकांग को लेकर नाराज अमेरिका ने अब चीन के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जहां विश्व स्वास्थ्य संगठन पर चीन के कब्जे का आरोप लगाया है। वहीं डब्ल्यूएचओ से हमेशा के लिए रिश्ते तोड़ने का ऐलान किया। साथ ही चीन के खिलाफ भी नए प्रतिबंध लगा दिए हैं। 

चीन पर निशाने साधते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, कोरोनावायरस के संदर्भ में चीनी अधिकारियों ने डब्ल्यूएचओ की रिपोर्टिंग को अपनी जवाबदेही को अनदेखा किया है। वहीं दुनिया को गुमराह करने के लिए संगठन पर दबाव बनाया है। चीन में पहली बार हुई वायरस की पहचान के बाद से अब तक लाखों लोग अपनी जान गवां चुके हैं, जबकि भारी आर्थिक नुकसान भी हो रहा है। 

उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ पर चीन का पूरा कन्ट्रोल है। जहां चीन उसे केवल चार करोड़ डॉलर और यूएस 45 करोड़ डॉलर का योगदान देता है। ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन में सुधार का हवाला भी दिया कहा, 'हमारे अनुरोध पर कोई सुनवाई हुई न सुधारों पर कोई कार्रवाई हुई।' डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, अमेरिका ने फैसला लिया है कि वो डब्ल्यूएचओ से अपने रिश्तों को खत्म कर रहा है। वो अपना धन विश्व स्वास्थ्य की अन्य परियोजनाओं में इस्तेमाल करेगा। 

ट्रंप ने चीन से सवाल पूछा कि आखिर ऐसा क्यों हुआ कि वुहान से निकला वायरस बीजिंग या चीन के अन्य क्षेत्रों में जाने की बजाए यूरोप और यूएस में फैल गया। कोरोनावायरस के कारण नुकसान बहुत हुआ है। इसके लिए चीन को दुनिया के आगे जवाब देना होगा। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हांगकांग के बहाने भी चीन को आढ़े हाथों लिया। ट्रंप ने चीनी कंपनियों के अमेरिका में वित्तीय कामकाज की जांच राष्ट्रपति के विशेष कार्य समूह को देने का भी निर्णय लिया। 


 

कमेंट करें
xsrOT