पश्चिमी नेताओं को अंदेशा, पुतिन बना रहे यूक्रेन पर बड़े आक्रमण की योजना

Western leaders suspect Putin is planning a major attack on Ukraine
पश्चिमी नेताओं को अंदेशा, पुतिन बना रहे यूक्रेन पर बड़े आक्रमण की योजना
रूस पश्चिमी नेताओं को अंदेशा, पुतिन बना रहे यूक्रेन पर बड़े आक्रमण की योजना
हाईलाइट
  • यूक्रेन पर हमले की गलती का अहसास हो गया है

डिजिटल डेस्क, लंदन। पश्चिमी देशों के नेताओं को डर है कि, व्लादिमीर पुतिन घातक परमाणु हमले या यूरोपीय हितों पर हमले के जरिए यूक्रेन पर कमजोर होते रूस के हमले को और तेज करने की योजना बना रहे हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन और अमेरिकी जासूसों के मुताबिक इस बात की विश्वसनीय खुफिया सूचना है कि पुतिन एक ऐसे हमले की तैयारी कर रहे हैं, जो युद्ध का नक्शा बदल सकता है। उनका यह भी दावा है कि पुतिन को यूक्रेन पर हमले की गलती का अहसास हो गया है।

द मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, मॉस्को में अमेरिकी दूतावास नागरिकों से रूस छोड़ने का आग्रह कर रहा है, इस डर के बीच कि नागरिकों को उसके युद्ध में शामिल किया जा सकता है। अमेरिकी दूतावास ने कहा है कि रूस अमेरिकी नागरिकों की दोहरी नागरिकता को मानने से इनकार कर सकता है। उन्हें काउंसलर सहायता देने से भी मना कर सकता है। यही नहीं, ऐसे लोगों के रूस छोड़ने पर भी पाबंदी लगाई जा सकती है। दूतावास ने यह भी चेतावनी दी कि फ्लाइटों से रुस छोड़कर जाना मुश्किल हो गया है, इसके अलावा सैनिकों द्वारा सीमाओं को बंद कर दिया गया है।

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, माना जा रहा है कि रूस यूक्रेन के 4 इलाकों को अपने क्षेत्र में मिला सकता है, जिनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने रूस में शामिल होने के लिए मतदान किया था, जिसमें निवासियों को बंदूक के दम पर मतपेटी तक ले जाया गया था। ये इलाके हैं- डोनेट्स्क, लुहांस्क, जापोरिझझिया और खेरसोन। यह पूरा इलाका यूक्रेन का 15 प्रतिशत हिस्सा है।

डेली मेल ने बताया, लेकिन पश्चिमी देशों को इस बात की चिंता है कि पुतिन एक परमाणु हमले की योजना बना रहे हैं, ताकि एक रेडिएशन जोन को वहां बनाया जा सके, ताकि यूक्रेनी सेना की बढ़त रुक जाए। उन्हें एक और डर यह है कि रूस समुद्र के अंदर बिछी हुई इंटरनेट केबल को काट सकता है। इससे पहले रूस ने अपने 3 लाख रिजर्व सैनिकों को भी यूक्रेन की जंग में उतार दिया था।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के अधिकारियों का मानना है कि पुतिन और साथ ही रूसी आबादी अब युद्ध को बड़ी गलती समझ रही है। उन्हें यह भी डर है कि 300,000 सैनिकों की आंशिक लामबंदी पश्चिम को यूक्रेन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए धोखा देने के लिए हो सकती है, जबकि उसने कीव के समर्थन के खिलाफ लाभ उठाने की कोशिश की थी। अभी कुछ दिन पहले बाल्टिक सागर में नॉर्ड स्ट्रीम गैस आपूर्ति पाइपलाइन के जानबूझकर तोड़फोड़ के लिए रूस को ही जिम्मेदार माना गया, जिससे ऊर्जा की कीमतें बढ़ रही हैं।

सुरक्षा सूत्रों ने द मिरर को बताया कि लीक संचार केबलों पर इसी तरह के हमले किए जा सकते हैं। उन्होंने आगे कहा, पुतिन के पास विकल्प लगभग समाप्त हो गए हैं, जो उन चार क्षेत्रों के पश्चिम में एक सामरिक परमाणु हमले को संभव बनाता है जो वह दावा कर रहे हैं। लेकिन एक और संभावना यूके और अमेरिका के बीच संचार केबलों पर हमला है, जिनमें से कई राज्यों के लिए यूरोपीय लिंक हैं। क्षतिग्रस्त इंटरनेट संचार केबल दुनिया के वित्तीय बाजारों के लिए बहुत हानिकारक हो सकते हैं।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Created On :   29 Sep 2022 4:30 PM GMT

Tags

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story