comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग आज, हरियाणा में 22% युवा मुख्य भूमिका निभाएंगे

विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग आज, हरियाणा में 22% युवा मुख्य भूमिका निभाएंगे

हाईलाइट

  • हरियाणा में 90 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव के लिए सोमवार को वोटिंग होगी
  • चुनाव में बड़े हद तक मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच है
  • इन चुनावों में 20 से 29 आयु वर्ग के करीब 22 फीसदी मतदाता मुख्य भूमिका निभाते नजर आएंगे

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा में 90 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव के लिए सोमवार को होने वाले मतदान में बड़े हद तक मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच है। सामाजिक विश्लेषकों का मानना है कि इन चुनावों में 20 से 29 आयु वर्ग के करीब 22 फीसदी मतदाता मुख्य भूमिका निभाते नजर आएंगे।

निर्वाचन आयोग के अनुसार, 40,67,413 मतदाता 20 से 29 आयु वर्ग के हैं और 44,92,809 मतदाता 30 से 39 आयु वर्ग समूह के हैं। 1.83 करोड़ मतदाताओं में से पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं की संख्या 3,82,446 है।

राज्य में 80 से ज्यादा आयु वर्ग में 4,18,961 मतदाता हैं। 40 से 49 आयु वर्ग में कुल 35,67,536 मतदाता हैं। 50 से 59 आयु वर्ग में 27,90,783 मतदाता, 60-69 आयु वर्ग में 17,39,664 मतदाता और 70-79 आयु वर्ग में 8,22,958 मतदाता हैं।

राज्य में पुरुष मतदाता 98.7 लाख और महिला मतदाता 85.1 लाख हैं और थर्ड जेंडर में 252 मतदाता हैं।

हरियाणा विधानसभा चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुख्य मुकाबला है। हालांकि जाट प्रभुत्व वाली कुछ सीटों पर जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) चुनौती दे रही है। जेजेपी, इंडियन नेशनल लोक दल (आईएनएलडी) से अलग हुआ गुट है।

जेजेपी की अगुवाई दुष्यंत चौटाला (31) कर रहे हैं, जिन्हें उनके परदादा देवीलाल के राजनीतिक विरास के वास्तविक उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है।

तीन सप्ताह लंबे प्रचार अभियान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतिम चरण में चार दिनों में सात जनसभाएं कीं, तो उनके कैबिनेट सहयोगियों-अमित शाह व राजनाथ सिंह ने क्रमश: सात व नौ रैलियां की।

भाजपा के विपरीत कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दो चुनावी रैलियों को संबोधित किया, जिसमें से एक को सोनिया गांधी को संबोधित करना था।

कांग्रेस के प्रमुख जाट चेहरा भूपिंदर सिंह हुड्डा को राहुल गांधी के साथ मंच साझा करने का मौका नहीं मिला। इसके अलावा राहुल गांधी ने हुड्डा के गढ़ माने जाने वाले इलाकों में चुनाव प्रचार नहीं किया।

यह चुनाव भाजपा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के लिए लिटमस टेस्ट है, जो राज्य में राम राज्य के सिद्धांत को शासन का आधार मानते हैं। गैर-जाट खट्टर भाजपा में 1994 से हैं और वह सुरक्षित सीट करनाल से फिर से मैदान में हैं।

अपने प्रचार अभियान के दौरान उन्होंने मुख्य रूप से राष्ट्रवादी कार्ड खेला, जिसमें केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद 370 को रद्द करने जैसे बड़े फैसलों को उजागर किया गया है।

खट्टर सरकार की प्रमुख उपलब्धि भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देना व सरकारी नौकरियों की भर्ती में पारदर्शिता है।

भगवा पार्टी ने बीते चुनाव में 47 सीटें जीती थी और राज्य में पहली बार सरकार बनाया था। इस बार भाजपा का लक्ष्य 75 से ज्यादा सीटें जीतने का है।

विपक्ष के नेता और मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में से एक भूपेंद्र सिंह हुड्डा फिर से अपने गढ़ रोहतक जिले के गढ़ी सापला-किलोई से लड़ रहे हैं।

हुड्डा का मानना है कि उनकी पार्टी राज्य में बढ़ी बेरोजगारी की वजह से सत्तारूढ़ भाजपा पर बढ़त बना सकती है, जो अनुमान के मुताबिक, 8.4 फीसदी के राष्ट्रीय औसत के मुकाबले 28.7 फीसदी हो गई है।

हुड्डा से मुकाबले के लिए भगवा पार्टी ने आईएनएलडी से दलबदल कर आए सतीश नंदलाल को खड़ा किया है, जो हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं।

कमेंट करें
d1F7C
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।