दैनिक भास्कर हिंदी: बिहार में जमात से जुड़े 57 विदेशी गिरफ्तार, वीजा नियम उल्लंघन का आरोप (लीड-2)

April 14th, 2020

हाईलाइट

  • बिहार में जमात से जुड़े 57 विदेशी गिरफ्तार, वीजा नियम उल्लंघन का आरोप (लीड-2)

पटना, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। बिहार सरकार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश में लागू लॉकडाउन के बीच पिछले दिनों पकड़े गए विदेशी नागरिकों के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। इसी क्रम में पटना, बक्सर, किशनगंज और अररिया में पिछले दिनों पकड़े गए अलग-अलग देशों से आए 57 लोगों को वीजा नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पकड़े जाने के बाद इन सभी को क्वारंटाइन में रखा गया था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इनका संपर्क जमातियों से रहा है।

पुलिस के मुताबिक, पिछले दिनों बक्सर और किशनगंज में 11-11, अररिया से 18, और पटना से 17 विदेशियों को पकड़ा गया था, जिनकी कोरोना की जांच भी कराई गई थी, लेकिन निगेटिव पाया गया था। हालांकि इन सभी को क्वारंटाइन में रखा गया था। क्वारंटाइन की अवधि पूरा होने के बाद इन सभी के खिलाफ वीजा के नियम के उल्लंघन के आरोप में विभिन्न थानों में प्राथमिकी दर्ज कराई गई और सभी को गिरफ्तार कर लिया गया।

किशनगंज के पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने बताया कि कुछ दिनों पहले 10 इंडोनेशिया और एक मलेशिया के नागरिक को खनका मस्जिद के पास से पकड़ा गया था। पकड़ने के बाद इनकी जांच कराई गई जिसमें इन सभी में कोरोना निगेटिव पाया गया। बाद में इन्हें मस्जिद में ही क्वारंटाइन रखा गया। क्वारंटाइन की अवधि पूरी होने के बाद इन सभी के खिलाफ वीजा के उल्लंघन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है और इन्हें मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

इधर, बिहार के बक्सर जिले के नया भोजपुर से 14 दिन पहले क्वारंटाइन में भेजे गए इंडोनेशिया के 7 और मलेशिया के 4 नागरिकों को वीजा नियमों के उल्लंघन में मंगलवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इन सभी पर वीजा का गलत प्रयोग करने का आरोप है।

बक्सर के पुलिस अधीक्षक उपेन्द्रनाथ वर्मा ने बताया कि ये विदेशी टूरिस्ट वीजा लेकर भारत आए थे और धर्म प्रचार कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मलेशिया और इंडोनेशिया से आए ये लोग जमात में शामिल होकर धर्म का प्रचार कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मार्च महीने में भोजपुर इलाके के एक मस्जिद से पकड़े जाने के बाद इन सभी को क्वारंटाइन में भेज दिया गया था, जिसकी समयावधि पूरी होने के बाद इनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई और अदालत में पेश कर इन्हें जेल भेज दिया गया।

इधर, अररिया में भी मंगलवार को वीजा के नियमों का उल्लंघन के आरोप में 18 विदेशियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ये सभी विदेशी टूरिस्ट वीजा के नाम पर धर्म प्रचार करने में लगे हुए थे। नौ विदेशी अररिया के जामा मस्जिद में और नौ नरपतगंज स्थित रेवाही मस्जिद में रह रहे थे। इन विदेशी नागरिकों में नौ मलेशियाई नागरिक और नौ बांग्लादेशी नागरिक हैं। इनके खिलाफ अररिया थाना और नरपतगंज में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

इससे पहले पटना में 23 मार्च को मस्जिदों में पकड़े गए 17 विदेशियों के खिलाफ वीजा नियमों के उल्लंघन में प्राथमिकी दर्ज की गई और इन्हें गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया, जहां से सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

जेल भेजे गए इन विदेशियों में नौ किर्गिस्तान, सात मलेशिया और एक कजाकिस्तान के रहने वाले हैं।

पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा ने मंगलवार को बताया, सात के खिलाफ फुलवारी शरीफ और 10 के खिलाफ दीघा थाने में वीजा उल्लंघन मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है। सभी टूरिस्ट वीजा पर आए थे, लेकिन धार्मिक प्रचार करते पकड़े गए थे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इनका संपर्क जमातियों से रहा है। पुलिस मामले की अनुसंधान कर रही है।