comScore

गलत निकला कांग्रेस का 60 लाख फर्जी वोटर का दावा, फर्जी पाए गए सिर्फ 8 मामले

June 09th, 2018 13:29 IST
गलत निकला कांग्रेस का 60 लाख फर्जी वोटर का दावा, फर्जी पाए गए सिर्फ 8 मामले

हाईलाइट

  • कांग्रेस ने 3 जून को की थी 60 लाख फर्जी वोटर होने की शिकायत
  • चुनाव आयोग ने 4 टीमें बना कर की थी दावे की जांच, जो गलत निकला
  • त्वरित और निष्पक्ष जांच पर भाजपा ने की निर्वाचन आयोग की तारीफ

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के 60 लाख फर्जी वोटर होने की कांग्रेस की शिकायत जांच में गलत निकली है। चुनाव आयोग की जांच में सिर्फ 8 वोटर फर्जी मिले हैं। इनमें से एक नरेला में है, जबकि भोजपुर में 7 लोगों की फर्जी मतदाता के रूप में पहचान की गई है। इन्हें वोटर लिस्ट से हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। केंद्रीय चुनाव आयोग ने कांग्रेस के आरोपों की जांच पूरी करने के बाद शुक्रवार देर रात अपनी रिपोर्ट जारी कर दी। आयोग ने यह रिपोर्ट दिल्ली स्थित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को भी भेज दी है। उल्लेखनीय है कि 3 जून को कांग्रेस ने प्रदेश की 101 विधानसभा सीटों पर 60 लाख फर्जी वोटर होने की शिकायत नई दिल्ली स्थित निर्वाचन आयोग से की थी।

क्या थी कांग्रेस की शिकायत?


कांग्रेस ने 3 जून को चुनाव आयोग को शिकायत की थी कि मध्यप्रदेश में 101 अलग-अलग विधानसभाओं के इलेक्टोरल रोल की पड़ताल के दौरान फर्जी वोटरों के मामले सामने आए हैं। कांग्रेस ने दावा किया कि राज्य में 60 लाख से अधिक वोटर फर्जी हैं। कांग्रेस की तरफ की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश के लिए 4 अलग-अलग टीमों का गठन किया था। इन टीमों ने संबंधित इलाकों में पड़ताल करने के बाद 7 जून को अपना जवाब चुनाव आयोग को सौंप दिया। चुनाव आयोग ने इन्हीं टीमों के जवाब के आधार पर कांग्रेस के सवालों को खारिज किया है। 

कांग्रेस ने उठाए सवाल

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने इलेक्शन कमीशन की तरफ से क्लीन चिट दिए जाने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि ''निर्वाचन आयोग की टीम की MP में मतदाता सूचियों में गड़बड़ियां संबंधी रिपोर्ट एकतरफा व वस्तुस्थिति के विपरीत है। यह टीम न तो शिकायत संबंधी बूथों पर गयी न शिकायतकर्ताओं से मिली। ऐसी लीपापोती हुई तो निर्वाचन आयोग से विश्वास उठ जाएगा।''



भाजपा बोली, माफी मांगे कांग्रेस


इस पर प्रतिक्रिया करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने चुनाव आयोग को धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा चुनाव आयोग ने जिस तरह तेजी से इस मामले में कार्रवाई करते हुए निर्णय सुनाया है, उसे भारतीय राजनीति में स्वच्छता लाने वाली कार्रवाई के रूप में देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतीय निर्वाचन प्रक्रिया पर निराधार आरोप लगाने के लिए कांग्रेस को देश से माफी मांगनी चाहिए। 



नरेला में 1, भोजपुर में 7 फर्जी वोटर


शिवनी मालवा: 17 पोलिंग स्टेशन पर गड़बड़ी की 2442 शिकायतें थीं, जिसनमें 2397 में गड़बड़ी नहीं पाई गई। बाकी 45 को सुधारने की प्रक्रिया जारी है। इस सूची में 439 फोटो में गड़बड़ी पाई गई। जिनमें से 145 को सुधार दिया गया है। 
नरेला: नरेला में 22352 फर्जी वोटर की शिकायत थी। इनमें से 17684 में कोई गड़बड़ी नहीं मिली है। बाकी 4568 में से 145 की बीच-बीच में छोड़ कर जांच की गई। जिनमें 153 सही पाई गईं। सिर्फ एक मामले में गड़बड़ी पाई गई। फोटो में गड़बड़ी के 40 मामले सामने आए हैं। जिन्हें सही किए जाने की कार्रवाई की जा रही है। 
होशंगाबादः 552 फर्जी मतदाता की शिकायत थी। इनकी जांच में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई। फोटो की मल्टीपल एंट्री के 40 मामले सामने आए। 
भोजपुरः 36 मामलों की जांच की गई है। इनमें 29 सही पाई गई हैं। इनमें से केवल 7 मामलों में ही गड़बड़ी पाई गई है। 

कमेंट करें
DGB9K