comScore

पुलवामा अटैक : त्राल में रची गई थी साजिश, 7 संदिग्ध हिरासत में

February 16th, 2019 12:59 IST

हाईलाइट

  • पुलवामा आतंकी हमले के बाद पुलिस ने दक्षिण कश्मीर से सात लोगों को हिरासत में लिया है।
  • जांच एजेंसियों के अधिकारी इन लोगों से पूछताछ कर रहे हैं।
  • प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि पुलवामा के त्राल में इस साजिश को रचा गया था।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकी हमले के बाद पुलिस ने साजिश में शामिल होने के शक में दक्षिण कश्मीर से सात लोगों को हिरासत में लिया है। जांच एजेंसियों के अधिकारी इन लोगों से पूछताछ कर रहे हैं। इतना ही नहीं प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि पुलवामा के त्राल में इस साजिश को रचा गया था। हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी इसकी पुष्टी नहीं की गई है।

सातों संदिग्धों को अवंतिपोरा और इसके आसपास के इलाकों से पकड़ा गया है। ये भी बताया जा रहा है कि हमले की योजना दक्षिण कश्मीर के पुलवामा, अवंतिपोरा और त्राल इलाके में सक्रिय आतंकी कामरान ने बनाई थी। कामरान पाकिस्तानी नागरिक है और जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य भी है। जांच ऐजेंसिया अब कामरान की तलाश में जुट गई है। त्राल इलाके को लंबे समय तक हिज्बुल मुजाहिदीन का गढ़ माना जाता था। 8 जुलाई 2016 में हिज्बुल के टॉप कमांडर बुरहान वानी को भी सुरक्षाबलों ने यहां पर ढेर कर दिया था। सूत्र बताते हैं कि जांच टीम इस हमले को अंजाम देने के लिए विस्फोटकों का इंतजाम करने वाले जैश-ए-मोहम्मद के एक स्थानीय सक्रिय सदस्य की भी तलाश कर रही है।

बता दें कि गुरुवार को पुलवामा में आतंकियों ने CRPF की एक बस को अपना निशाना बनाया था। आतंकियों के इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।  इस हमले की जांच के लिए सरकार ने NIA की 12 सदस्यीय टीम का भी गठन किया है। ये टीम शुक्रवार सुबह लेथीपोरा पहुंची थी और घटनास्थल से तमाम सबूत इकट्ठा किए। मामले की जांच में जुटी केंद्रीय एजेंसियों की रिपोर्ट्स में ये भी खुलासा हुआ है कि जवानों के काफिले को निशाना बनाने के लिए RDX नहीं बल्कि यूरिया अमोनियम नाइट्रेट का उपयोग किया गया था। यूरिया अमोनियम नाइट्रेट का उपयोग कश्मीर में पत्थर की खदानों में किया जाता है। 

कमेंट करें
U8sic