दैनिक भास्कर हिंदी: कर्नाटक में जो कुछ हुआ उसके बाद केन्द्र सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए : अखिलेश

May 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। कर्नाटक में पिछले चार दिनों से चल रहे घटनाक्रम के बाद शनिवार को बीजेपी सरकार गिर चुकी है। कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले ही आज बी एस येद्दियुरप्पा ने अपना इस्तीफा दे दिया। 15 मई के नतीजों के बाद से कर्नाटक में चल रही इस पूरी उठापटक पर अब विपक्षी दलों ने बीजेपी पर निशाना साधा  है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जहां कर्नाटक में बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाते हुए पूरी केन्द्र सरकार को इस्तीफा मांगा है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी बीजेपी पर तंज मारते हुए कहा है कि कांठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती। हर बार साजिश कामयाब नहीं होती।

केंद्र सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए : अखिलेश
अखिलेश यादव ने कर्नाटक में बीजेपी सरकार की हार को जनमत की जीत बताया। उन्होंने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाते हुए कहा, 'आज का दिन भारतीय राजनीति में धनबल की जगह जनमत की जीत का दिन है। सबको खरीद लेने का दावा करने वालों को आज ये सबक मिल गया है कि अभी भी भारत की राजनीति में ऐसे लोग बाकी हैं, जो उनकी तरह राजनीति को कारोबार नहीं मानते हैं. नैतिक रूप से तो केंद्र की सरकार को भी इस्तीफ़ा दे देना चाहिए।'
 


कांठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती : मायावती
बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद मायावती ने कहा कि यह बीजेपी की साजिश इस बार कामयाब नहीं हुई। उन्होंने कहा, 'कांठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती। यह बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका है। उन्हें अपनी रणनीतियों को लेकर दुबारा सोचना होगा। 2019 में होने वाले चुनाव लेकर बीजेपी की सारी योजनाएं अब बेकार हो गई हैं।'

 


मायावती ने यह भी कहा कि बीजेपी सत्ता पाने के लिए हर प्रकार के हथकंडे अपनाती है। उन्होंने कनार्टक के राज्यपाल पर दबाव बनाकर बहुमत न होते हुए भी सरकार बनाई। मायावती ने कहा कि अगर राज्यपाल निष्पक्ष तौर पर काम नहीं कर सकते हैं तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। इस दौरान मायावती ने जीत के लिए जेडीएस को बधाई भी दी। हालांकि उन्होंने कांग्रेस का नाम नहीं लिया। जब उनसे राहुल गांधी के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने उसका भी जवाब नहीं दिया।