comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Amit Shah Rally: ओडिशा के लोगों सेअमित शाह ने कहा, भाजपा और जनता के बीच नहीं हो सकती दो गज की दूरी

June 08th, 2020 17:35 IST

हाईलाइट

  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) वर्चुअल माध्यम से ओडिशा के लोगों को संबोधित कर रहे हैं। इससे पहले अमित शाह ने रविवार को बिहार (Bihar) के लोगों को संबोधित किया था। इस दौरान अमित शाह ने कहा, भाजपा राजनीति में सिर्फ सत्ता प्राप्त करने के लिए नहीं बल्कि जनसंवाद करने के लिए आई है। हम जनता की समस्या को जानने की कोशिश करते हैं और उनके मुद्दों को हल कर उसके नतीजे जनता के सामने पेश करते हैं। गृह मंत्री ने कहा दो गज की दूरी भाजपा कार्यकर्ताओं को को जनता से दूर नहीं रख सकती।

Updates:

  • आज ये जो वर्चुअल रैली हो रही है वो भाजपा की परंपरा का अभिन्न अंग है। भाजपा जब से राजनीति में आई है, हम तब से जनता से संवाद करते हैं और जनता की बात सरकार तक पहुंचाते हैं।
  • भाजपा केवल सत्ता के लिए राजनीति में नहीं है, बल्कि लोगों के संपर्क में रहने, उनकी समस्याओं को समझने और इसे सरकार तक ले जाने के लिए हैं। जब हम सरकार बनाते हैं, तो हम अपने रिपोर्ट कार्ड को लोगों तक ले जाते हैं।
  • COVID-19 महामारी एक वैश्विक महामारी है। पीएम मोदी ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए भी सलाह दी है, लेकिन यह कभी भी लोगों और भाजपा के बीच नहीं हो सकती है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में हम अब वर्चुअल रैलियों के माध्यम से लोगों के संपर्क में है।
  • ये जो संवाद परंपरा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी ने चालू रखी है वो दुनिया की राजनीति को रास्ता दिखाने वाली होगी कि ऐसी महामारी के समय भी कोई पार्टी अपने देश में लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने के लिए किस तरह से जनसंवाद कर सकती है।
  • ओडिशा के लोगों ने राज्य में 38% से अधिक मतों के साथ हमें आशीर्वाद दिया और 8 सीटों ने पीएम मोदी को वैश्विक स्तर पर भारत को आगे बढ़ाने में मदद दीं।
  • 91 लाख से अधिक लोगों ने पीएम मोदी और भाजपा को आशीर्वाद दिया है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम पीछे नहीं हटेंगे और हम अपने वादे के अनुसार राज्य का विकास करेंगे। पीएम मोदी उस दिशा में चल रहे हैं।
  • भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कोरोना संकट के समय 11 करोड़ से ज्यादा लोगों को भोजन कराया है। मैं इस काम के लिए पार्टी अध्यक्ष, उनकी टीम और सभी कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं।
  • पीएम मोदी ने 50 करोड़ गरीब भारतीयों के लिए आयुष्मान भारत की शुरुआत की। पीएम मोदी ने उन्हें अच्छे स्वास्थ्य का अधिकार दिया। 5 लाख रुपये का इलाज मुफ्त में दिया जा रहा है। 1 करोड़ लोग पहले ही आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा चुके हैं।
  • 2014 में नरेन्द्र मोदी जी जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने कहा था कि, मेरी सरकार गरीबों, आदिवासियों, दलितों की सरकार होगी। मोदी जी जो बोलते हैं वो करते हैं। उन्होंने देश के 60 करोड़ से ज्यादा गरीबों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए ढेर सारे काम किए।
  • जब पीएम मोदी सत्ता में आए तो 7 करोड़ परिवारों के पास बैंक खाते नहीं थे। जन धन योजना के तहत 31 करोड़ बैंक खाते खोले गए।
  • लॉकडाउन के दौरान, मोदी सरकार ने मदद के लिए 91 करोड़ भारतीयों को 53,000 करोड़ रुपये भेजे।
  • 10 करोड़ घरों में शौचालय बनाकर माताओं-बहनों को सम्मान से जीने का अधिकार दिया। 2.5 करोड़ लोगों को जिनके पास घर नहीं था उनको मोदी सरकार ने घर देने का काम किया
  • हमने पहले की तरह आतंकवादी हमले भी देखे हैं, लेकिन पीएम मोदी पिछले पीएम की तरह चुप नहीं बैठे। पाकिस्तान में  घुसकर एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक कर जवाब दिया गया।
  • पीएम मोदी ने जल जीवन मिशन शुरू किया है। इसके माध्यम से, मोदी सरकार 2022 तक 25 करोड़ लोगों को स्वच्छ पेयजल मुहैया कराएगी। इससे उनकी दवाओं की लागत 1/10 तक कम हो जाएगी।
  • श्री राम जन्मभूमि का विवाद वर्षों से चल रहा था। करोड़ों लोग राह देखते थे कि कब राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बनेगा। मोदी सरकार को आपने दोबारा बहुमत दिया, सटीक तरीके से अपना पक्ष रखा गया और सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि के पक्ष में फैसला दिया।
  • ट्रिपल तालक के चलते करोड़ों मुस्लिम महिलाएं वर्षों से रो रही थीं। पीएम मोदी ने सत्ता में आते ही ऐसी महिलाओं को ट्रिपल तलाक की जंजीरों से मुक्ति दिलाई।
  • 9.5 करोड़ किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत अब तक 72,000 करोड़ रुपये मिले हैं। यह एक बार की बात नहीं है। मोदी सरकार द्वारा हर किसान को हर साल 6,000 रुपये मिलेंगे। कांग्रेस ने सिर्फ एक बार ऋण माफ किया, लेकिन इस वार्षिक समर्थन से हमारे किसानों को और भी अधिक मदद मिलेगी।
  • कोरोना संकट के समय करीब 3 लाख उड़िया भाई अलग अलग क्षेत्रों से वापस आए हैं। उनकी सुरक्षा और घर वापसी के लिए मोदी जी ने श्रमिक ट्रेनों चलाई। रेलवे स्टेशन से आने जाने के लिए बसों की व्यवस्था की। केन्द्र और राज्य सरकारों ने उनके खाने पीने की और आर्थिक मदद की है।
  • कांग्रेस सरकार में जब मनमोहन जी प्रधानमंत्री थे तब उन्होंने RECP के  निगोशिएशन की शुरुआत की थी। अगर RECP पर दस्तखत हो जाता तो इस देश का छोटा व्यापारी, उद्यमी, पशुपालक, किसान, मत्सय उद्योग ये सब अपना जीवन दुश्कर तरीके से जी पाते।
  • पीएम मोदी ने RECP की मीटिंग में कहा कि ये देश गांधी का देश है गरीब, किसान, छोटे मजदूर और मेरे मछुआरे भाइयों से दगा नहीं कर सकता उनके हित की मुझे सोचना होगा। इस तरह हम  RECP से बाहर हुए और आज हर छोटे व्यापारी, उद्यमी अपने आप को बचा हुआ महसूस कर रहे हैं।
  • विपक्ष के कुछ वक्रदृष्टा आज हम पर सवाल उठाते हैं तो मैं उन्हें पूछता हूं कि उन्होंने क्या किया? कोई स्वीडन में, कोई अमेरिका में लोगों से बात करता है, इसके अलावा और क्या किया आपने? मोदी जी ने कोरोना में त्वरित सहायता के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपये जरूरतमंदों के लिए दिए हैं।''
  • ओड़िशा में अभी अम्फान चक्रवात आया तब अपनी जान को जोखिम में डालकर नरेन्द्र मोदी जी ओड़िया वासियों के साथ चट्टान की तरह खड़े दिखे। अम्फान चक्रवात में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 500 करोड़ रुपये प्राथमिक तौर पर दिए।
  • 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस सरकार ने 79,000 करोड़ रुपये ओड़िशा के लिए दिए थे। मोदी सरकार 2.11 लाख करोड़ रुपये 14वें वित्त आयोग के तरह ओड़िशा के विकास के लिए दिए।
  • खोरदा में पाइका स्मारक जो कि ओड़िशा भाइयों की स्वतंत्रता पाने की ललक की निशानी है, ओड़िसा संस्कृति का गौरव है। उसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए गए हैं। ये बताता है कि ओड़िशा की संस्कृति और गौरव के साथ मोदी जी कितना घुल-मिल गए हैं।
  • नरेन्द्र मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत का आहृवान किया है। ऐसा भारत जिसके 130 करोड़ लोग भारतीय चीजों का ही उपयोग करें। मैं भारत की जनता से अपील करने आया हूं कि आज हम संकल्प करें कि जहां तक हो हम भारत में बनीं हुई चीजों का ही उपयोग करेंगे।
कमेंट करें
M7Cbr
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।