दैनिक भास्कर हिंदी: साइंटिस्ट हनीट्रैप: 3 दिन के रिमांड पर ISI को गुप्त सूचना देने का आरोपी

October 9th, 2018

हाईलाइट

  • उत्तरप्रदेश और महाराष्ट्र एटीएस ने मिलिटरी इंटेलीजेंस विंग के साथ की थी कार्रवाई
  • ब्रह्मोस मिसाइल से जुड़ी जानकारी लीक करने का आरोप
  • पिछले चार साल से कर रहा है ब्रह्मोस एयरोस्पेस सेंटर में काम

डिजिटल डेस्क, नागपुर। देश की सुरक्षा से जुड़े जरूरी दस्तावेज पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को देने के आरोप में पकड़ाए निशांत अग्रवाल को नागपुर की सेशन कोर्ट ने 3 दिन की रिमांड पर यूपी पुलिस को सौंपा है। एटीएस ने मंगलवार दोपहर 12 बजे उसे नागपुर के कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे रिमांड पर दे दिया गया। उत्तर प्रदेश की एटीएस निशांत से जानने की कोशिश कर रही है कि उसने कितने दस्तावेज अब तक पाकिस्तान को दिए हैं। बता दें कि ब्रह्मोस एयरोस्पेस सेंटर नागपुर से यंग साइंटिस्ट निशांत अग्रवाल को गिरफ्तार किया गया है। साइंटिस्ट पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI और अमेरिका को गुप्त सूचनाएं देने का आरोप है। यूपी एटीएस ने आर्मी इंटेलिजेंस की मदद से यंग साइंटिस्ट निशांत अग्रवाल को हिरासत में लिया गया है। निशांत पर आईएसआई और अमेरिकी खुफिया एजेंसी को ब्रह्मोस मिसाइल से जुड़ी जानकारी लीक करने का आरोप लगा है। निशांत को उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र एटीएस ने मिलिटरी इंटेलीजेंस के साथ संयुक्त कार्रवाई कर पकड़ा है, उसे नागपुर के उज्ज्वल नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया है। रविवार रात से ही टीम उसे ट्रैक करने की कोशिश कर रही थी और सोमवार को उसे गिरफ्तार कर लिया गया। 


खुफिया जानकारी लीक करने का आरोपी साइंटिस्ट निशांत अग्रवाल ब्रह्मोस एयरोस्पेस सेंटर में पिछले चार साल से काम कर रहा है, उसे ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत हिरासत में लिया गया है। जानकारी के मुताबिक आरोपी निशांत अब तक आईएसआई और अमेरिकी एजेंसी को ब्रह्मोस के बारे में काफी जानकारी दे चुका है। ब्रह्मोस मिलाइल पर रूस और भारत का संयुक्त रूप से काम कर रहा है। कहा जा रहा है कि निशांत अग्रवाल पाकिस्तान को ब्रह्मोस से जुड़ी सारी जानकारियां दिया करता था उसने बहुत सारी टेक्निकल जानकारियां लिखी हैं। जानकारी के अलावा कई जगह की फोटो भी उसने मेल पर भेजी हैं, जिसके पुख्ता सबूत मिलने के कारण उसे गिरफ्तार किया गया है।

खबरें और भी हैं...