नई दिल्ली: हर साल 21 मई को मनाया जाएगा आंतकवाद विरोधी दिवस

May 14th, 2022

हाईलाइट

  • देश के युवाओं से आतंकवाद और हिंसाओं में शामिल न होने को कहा

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। आतंकवाद से निपटने के लिए भारत सरकार अब नई पहल शुरू करने जा रही है। गृह मंत्रालय से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों, सभी मंत्रालयों और विभागों के सचिवों को पत्र लिखकर 21 मई को आतंकवादी दिवस मनाने को कहा है। 

मंत्रालय ने अपने पत्र में कहा  है कि केंद्र सरकार की तरफ से  आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए  कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। केंद्र ने अपने पत्र में कहा इस दिवस का उद्देशय युवाओं को बताना है कि  एक गलती किस तरह से राष्ट्रीय समस्या बन सकती है। आतंक को जड़ से तभी ध्वस्त किया जा सकता है जब  युवा जीवन के सही मार्ग पर चले। तब आतंकवाद स्वत: ही खत्म हो जाएगा। गृह मंत्रालय ने  देश के  युवाओं से  आतंकवाद और हिंसाओं में शामिल न होने को कहा है।

केंद्र सरकार के कार्यालयों में  20 मई को ही शपथ दिलवाई जा सकती है  इसके पीछे की वजह 21 मई को शनिवार होने के चलते अवकाश होना है। हालांकि, राज्य सरकार के दफ्तरों या जहां शनिवार का अवकाश नहीं है वहां 21 मई को ही शपथ दिलवाई जाएगी। इस दिन सभी  कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी शपथ  दिलाई जाएगी।  सोशल और डिजिटल मीडिया साइटों पर आतंकवाद विरोधी संदेशों को भी प्रसारित किया जा रहा  है।