comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Fight Covid: सेना प्रमुख बोले- दवा भेजकर भारत कर रहा अन्य देशों की मदद, पाक भेज रहा आतंकी


हाईलाइट

  • कोरोना संकट के दौरान घुसपैठ को लेकर पाकिस्तान पर भड़के सेना प्रमुख
  • सेना प्रमुख नरवणे ने कहा- भारत दुनिया को दवाएं भेजकर मदद कर रहा है
  • पाकिस्तान आतंकवाद का निर्यात कर रहा है, गोलीबारी कर रहा है

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने शुक्रवार को पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि ऐसे समय में जब भारत कोरना वायरस से लड़ने के लिए दुनिया को दवाएं और मेडिकल टीम भेज भेजकर मदद कर रहा है, वहीं पाकिस्तान आतंकवाद का निर्यात कर रहा है। उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब दुनिया कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए एकजुट हो चुकी है, हमारे पड़ोसी ने अंतर्राष्ट्रीय ध्यान आकर्षित करने के लिए भारी गोलीबारी और एक आठ वर्षीय बच्चे सहित निर्दोष लोगों की हत्या का सहारा लिया है।

COVID-19: चीन ने की चालाकी! वुहान में अचानक बढ़े मरने वाले, आंकड़ों में 50% की वृद्धि

सेना प्रमुख दो दिवसीय दौरे पर जम्मू-कश्मीर पहुंचे। उन्होंने अपने दौरे के दूसरे दिन शुक्रवार को विभिन्न सैन्य चौकियों का दौरा किया और जवानों का हौसला बढ़ाया। जनरल नरवणे ने कहा, मैं अपनी आवाम से मिलने आया हूं और उन्हें क्षेत्र के लिए शांति, समृद्धि और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए हमारी प्रतिबद्धता और समर्थन का आश्वासन देता हूं।

केरन सेक्टर में पांच सैनिक हुए थे शहीद
पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन और हाल ही में भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ के बारे में उन्होंने कहा कि वह उस जगह को देखने आए हैं, जहां पांच सैनिकों ने आतंकवादियों से लड़ते हुए बलिदान दिया है। बता दें कि, जम्मू एवं कश्मीर में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांच आतंकवादियों को पिछले सप्ताह केरन सेक्टर में ढेर कर दिया गया था। इस कार्रवाई में पांच सैनिक भी शहीद हुए थे।

पाक की सभी नापाक हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देगी सेना
जनरल नरवणे ने यह भी कहा कि, घुसपैठ के प्रयास उन क्षेत्रों में होते हैं, जहां अभी भी बर्फ का स्तर बहुत अधिक है। उन्होंने कहा, खुफिया रिपोर्ट बताती है कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के सभी लॉन्च पैड सक्रिय हैं। सेना प्रमुख ने इस बात पर जोर दिया कि भारतीय सेना संघर्ष विराम के उल्लंघन की सभी नापाक हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देगी। उन्होंने कहा, हम पाकिस्तान के साथ इस क्षेत्र में शांति बनाए रखने का अपना दायित्व निभा रहे हैं। जब तक पाकिस्तान केंद्र प्रायोजित आतंकवाद की अपनी नीति को नहीं छोड़ता, हम उसका सटीकता के साथ जवाब देना जारी रखेंगे।

कोविड-19: कोरोना से बिगड़ी अर्थव्यवस्था, 100 से अधिक देश चाहते हैं...

कश्मीर के भीतरी इलाके में प्रतिबंध हटाने के बारे में सेना प्रमुख ने कहा कि वे सुरक्षाबलों को पीछे नहीं कर सकते, क्योंकि पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी निर्दोष नागरिकों को निशाना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि तीन दिन पहले ही आतंकियों ने एक सेवानिवृत्त कश्मीरी सैनिक को निशाना बनाया है। उन्होंने यह भी कहा कि लोगों को झूठ और छल के आधार पर पाकिस्तानी मकसद का एहसास होना चाहिए। जनरल नरवणे ने कहा, मैं आवाम से पाकिस्तान के प्रचार का विरोध करने और घाटी में शुरू किए गए सफल और शांतिपूर्ण सफर का हिस्सा बनने का आह्वान करता हूं। कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में उन्होंने कहा कि भारतीय सेना तीन मोर्चे पर प्रतिबद्ध है, जिसमें बाहरी खतरों से राष्ट्रीय सीमाओं की रक्षा करना, भीतरी इलाकों में खतरों से निपटना और महामारी से निपटने में सरकार की सहायता करना शामिल है।

कमेंट करें
sNdUK