comScore

सेना ने किया पाक के मोर्टार गोलों का विध्वंस, देखें वीडियो


हाईलाइट

  • भारतीय सेना ने किये पाक के 3 मोर्टार गोलों का नाश
  • सीजफायर उल्लंघन के बाद बरामद किये थे मोर्टार
  • सेना ने वीडियो भी बनाया

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। भारतीय सेना ने सोमवार को पाकिस्तान सेना के 3 मोर्टार गोलों को नष्ट कर दिया है। यह मोर्टार सेना द्वारा जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के करमरा गांव से हाल ही में पाकिस्तान द्वारा किये गए सीजफायर उल्लंघन के बाद बरामद किये गए थे। सेना ने इन मोर्टार गोलों का खात्मा करने का एक वीडियो भी बनाया है।

पाकिस्तान पर बरपा था भारतीय सेना का कहर

बता दें कि पाकिस्तान ने 20 अक्टूबर (रविवार) को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्टर में फायरिंग करते हुए सीजफायर का उल्लंघन किया था। इसके अलावा पाकिस्तानी सेना द्वारा घुसपैठियों को भारतीय क्षेत्र में धकेलने की भी कोशिश की जा रही थी। लेकिन भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ जोरदार जवाबी कार्रवाई की। जिसके बाद सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने अपने बयान पर जानकारी दी थी कि भारत द्वारा की गई कार्रवाई में पाकिस्तान के 6-10 सैनिक और करीब 20 आतंकी भी मारे गए। साथ ही पाकिस्तान पर बरपे भारतीय सेना के कहर से 3 आतंकी कैंप नष्ट हुए और चौथे कैंप को भी काफी हद तक नुकसान पहुंचा था।

राज्यपाल मलिक की पाकिस्तान को चेतावनी

बता दें कि भारत द्वारा पाकिस्तानी सैनिकों को मारने और पाकिस्तानी आतंकी कैंपों को धराशायी करने के बाद जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को बड़ा बयान दिया था। सत्यपाल मलिक के मुताबिक यदि पाकिस्तान अब भी नहीं समझता है तो पाकिस्तानी सेना और पाक अधिकृत कश्मीर (POK) में बसे आतंकी ठिकानों पर अंदर घुसकर जवाबी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने साफ शब्दों में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा था कि 'हम आतंकी कैंपों को बिल्कुल बर्बाद कर देंगे, और अगर ये (पाकिस्तान) बाज नहीं आए तो हम अंदर जाएंगे।'

वहीं जब सत्यपाल से भारतीय सेना द्वारा POK के आतंकी कैंपों पर आर्टिलरी गन्स का इस्तेमाल करने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा था कि 'आर्टिलरी गन्स का इस्तेमाल क्यों नहीं होगा। यदि इसका इस्तेमाल नहीं करेंगे तो पाकिस्तान तो ये (सीजफायर उल्लंघन) रोज का काम है। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को अब रोकना पड़ेगा। और यदि पाकिस्तान की तरफ से दोबारा ऐसी हरकत होती है तो उसके खिलाफ इससे भी ज्यादा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।'

कमेंट करें
cNdRA