दैनिक भास्कर हिंदी: AIMIM अध्यक्ष ने कहा- मस्जिद जहां थी वहीं बनेगी, बीजेपी का पलटवार

February 26th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपने बयानों को लेकर अक्सर विवादों में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने अयोध्या मामले को लेकर बयान दिया है। दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम को दौरान ओवैसी ने कहा कि मस्जिद जहां है वहीं बनेगी। ओवैसी के इस बयान के बाद सियासत के प्याले में हलचल पैदा हो गई है। ओवेसी के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि ओवैसी देश को तोड़ना चाहते है।

हिंदुस्तान का मुसलमान राम का वंशज
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ओवैसी पर पलटवार करते हुए कहा  'वो तो मक्का मदीना जाएंगे, हम कहां जाएंगे? क्या पाकिस्तान में राम मंदिर बनेगा? औवेसी जैसे लोगों, जिनके दिल में जिन्ना का जिन्न प्रवेश कर गया है वो देश को तोड़ना चाहते हैं।'  उन्होंने आगे कहा कि 'भारत के अंदर कोई बाबर का वंशज नहीं है। कोई मुसलमान विदेशी नहीं है। हिंदुस्तान का मुसलमान राम का वंशज है, हमारे पूर्वज एक है, पूजा पद्वति अलग हो सकती है।'


हम अपनी मस्जिद कभी नहीं छोड़ेंगे
इससे पहले AIMIM अध्यक्ष ने कहा था, ‘वे लोग जो हमें डरा रहे हैं और हमारी शरीयत के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं, वे हमें दावा छोड़ने को कह रहे हैं। मैं उन्हें बता देना चाहता हूं कि हम अपनी मस्जिद कभी नहीं छोड़ेंगे।’ ओवैसी ने कहा- हमारी मस्जिद थी, है, रहेगी और इंशाल्लाह सुप्रीम कोर्ट का फैसला हमारे पक्ष में आने के बाद यह एक बार फिर से उसी जगह पर बनेगी। मुझे यकीन है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आस्था के आधार पर नहीं बल्कि सबूतों के आधार पर होगा। हैदराबाद के सांसद ने कहा- अयोध्या के विवादित ढांचे पर मुस्लिम अपनी मस्जिद के दावे को कभी नहीं छोड़ेंगे।

 



PNB को लेकर पीएम मोदी पर तंज
ओवैसी ने पीएनबी घोटाले को लेकर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा। ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री का गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी से क्या संबंध है। उन्होंने कहा कि जो आज हमको पाकिस्तानी कहकर पुकारते हैं मैं उनसे पूछना चाहता हूं हरशद मेहता, केतन पारिख, नीरव मोदी क्या मुसलमान थे? पीएम मोदी जिन लोगों को भाई कहते हैं उन्होंने हमारे देश को लूटने का काम किया। एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि देश में मुस्लिमों का दर्जा दूसरी श्रेणी के नागरिकों का कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘हम हिंदू-मुस्लिम भाई के सिद्धांत पर यकीन करते हैं, लेकिन इसने कभी हमारी मदद नहीं की। देश अब हिंदुत्व की ओर बढ़ रहा है। हमारे साथ देश में दूसरी श्रेणी के नागरिक जैसा बर्ताव किया जा रहा है।’