दैनिक भास्कर हिंदी: सत्ता में आने पर भी बंद नहीं करेंगे वसुंधरा सरकार की योजनाएं : अशोक गहलोत

October 7th, 2018

हाईलाइट

  • अशोक गहलोत ने कहा- सत्ता में आने पर वसुंधरा सरकार की योजनाओं को आगे बढ़ाएंगे
  • राजस्थान में 7 नवंबर को होगी वोटिंग, 11 दिसंबर को आएंगे नतीजे
  • सर्वे के मुताबिक, राजस्थान में आ सकती है कांग्रेस सरकार

डिजिटल डेस्क, जयपुर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने कहा कि अगर राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनती है तो वे वसुंधरा सरकार के दौरान शुरू की गई योजनाओं को खत्म नहीं करेंगे। गहलोत ने कहा, 'हम राजस्थान की जनता से वादा करते हैं कि सरकार में आने पर सीएम वसुंधरा राजे द्वारा शुरू की गई योजनाओं को खत्म करने की बजाय आगे बढ़ाएंगे। यह हम विकास के लिए करेंगे। राज्य की जनता की भलाई के लिए यह हमारी सकारात्मक और प्रगतिशील सोच है। हम बेवजह की राजनीति में समय बर्बाद नहीं करेंगे।'

अशोक गहलोत ने इस दौरान सीएम वसुंधरा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'सीएम वसुंधरा को पिछले पांच सालों में राज्य की जनता के लिए कुछ नहीं किया। उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। लोगों ने पिछली बार उनपर पूरा भरोसा किया और स्पष्ट बहुमत से जिताया लेकिन वे जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरीं।' उन्होंने वसुंधरा राजे को कई सारे प्रोजेक्ट्स को ठंडे बस्ते में डालने का भी जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, 'राज्य की जनता उनसे नाराज है और बदलाव के लिए उतावली है।'

बता दें कि राजस्थान में 7 दिसंबर को वोटिंग होनी है और 11 दिसंबर को नतीजे आने हैं। यहां बीजेपी की सीएम उम्मीदवार तो वसुंधरा राजे ही हैं, लेकिन अशोक गहलोत और सचिन पायलट के रूप में कांग्रेस के पास दो चेहरे हैं। राजस्थान में पिछले कुछ दशकों से हर पांच सालों में सत्ता परिवर्तन देखा गया है। इस बार भी यही आसार लगाए जा रहे हैं। शनिवार को ही ABP और C-VOTER सर्वे में यहां बीजेपी की हालत बेहद खराब बताई गई है। सर्वे के मुताबिक, राजस्थान में बीजेपी की बड़ी हार तय है। यहां 200 सीटों में से बीजेपी को महज 56 सीटें मिलना बताई गई है, जबकि कांग्रेस को 142 और अन्य को 2 सीटें हिस्से में आ सकती हैं। वोट प्रतिशत की बात करें तो बीजेपी को 34, कांग्रेस को 50 और अन्य को 16 फीसदी वोट मिल सकते हैं।