दैनिक भास्कर हिंदी: अलवर में गौरक्षकों ने नहीं की मुस्लिम युवक की हत्या, बदमाशों के गैंग ने किया कत्ल

November 13th, 2017

डिजिटल डेस्क, अलवर। राजस्थान के अलवर में गौरक्षा के नाम पर हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। मामले की जांच कर रही अलवर पुलिस ने दावा किया है कि शुक्रवार को हुई मुस्लिम युवक की हत्या गौरक्षकों ने नहीं की, बल्कि गौरक्षकों के नाम पर 6 बदमाशों की गैंग ने इस वारदात को अंजाम दिया है। ये गैंग इस इलाके में लूट की वारदातों को करता है, इनका तरीका गौरक्षकों की तरह होता है। गैंग के एक सदस्य कल्लू उर्फ कल्या को हिरासत में ले लिया गया है और अन्य की तलाश जारी है।

गौरतलब है कि यहां पिकअप गाड़ी में गायों को ले जा रहे दो मुस्लिम युवकों की जमकर पिटाई की गई है। इसमें एक मुस्लिम युवक की मौत हो गई है, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल है। बताया जा रहा है कि पिटाई के बाद युवकों को गोली भी मारी गई है। पिटाई करने में शामिल लोगों के बारे में अब तक कोई जानकारी हासिल नहीं हुई है। गौरतलब है कि ठीक सात महीने पहले भी अलवर में गौरक्षकों की भीड़ ने एक मुस्लिम व्यापारी पहलू खान को गौ-तस्कर समझकर मार डाला था।

अलवर में घटी यह ताजा घटना शनिवार रात 11 बजे की है। दो मुस्लिम युवक पिकअप गाड़ी में अलवर से घाटमिका गांव गाय ले जा रहे थे। इस दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने गाड़ी रुकवाई और दोनों युवकों को गो-तस्कर समझकर जमकर पिटाई कर दी। गौरक्षा के नाम पर हुई इस पिटाई में जिस व्यक्ति की हत्या हुई है वो मेव समुदाय का मुस्लिम युवक था। युवक की पहचान उमर खान के रूप में हुई है। घायल हुए शख्स का नाम ताहिर बताया जा रहा है, उसे हरियाणा के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। 

पुलिस का कहना है कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि घटना कैसे हुई। उधर मेव समुदाय ने इस घटना पर गहरा रोष जताया है। मेव समाज ने इस घटना के पीछे हिंदूवादी संगठनों का हाथ बताया है। मेव समाज के लोगों ने मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

गौरतलब है कि इस साल अप्रैल में अलवर में ही गौरक्षा के नाम पर भीड़ ने पहलू खान की हत्या कर दी थी। पहलू खान का डेयरी का बिजनेस था और वह राजस्थान में गाय खरीदने के बाद हरियाणा जा रहा था। भीड़ ने गौ-तस्कर समझकर उन पर हमला किया था। इस घटना के बाद पुलिस ने कुछ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। हालांकि इसमें सभी आरोपियों को राजस्थान पुलिस की सीबी-सीआईडी ने क्लीन चिट दे दी थी।