comScore

गोडसे विवाद पर बोले नीतीश- 'साध्वी को पार्टी से बाहर करे बीजेपी'

गोडसे विवाद पर बोले नीतीश- 'साध्वी को पार्टी से बाहर करे बीजेपी'

हाईलाइट

  • साध्वी प्रज्ञा ने गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था
  • भोपाल से बीजेपी की प्रत्याशी हैं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर
  • बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा, साध्वी को पार्टी से बाहर करने पर विचार करे बीजेपी

डिजिटल डेस्क, पटना। भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान से बीजेपी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को साध्वी प्रज्ञा ने देशभक्त बताया था। जिसके बाद से विपक्ष बीजेपी को घेर रहा है। अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी नसीहत दी है। बीजेपी के साथ गठबंधन में शामिल नीतीश कुमार ने साध्वी के बयान को निंदनीय करार दिया है। इसके साथ ही उन्होंने साध्वी को पार्टी से बाहर करने की नसीहत दी है।

रविवार को पटना में मतदान करने के बाद नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, साध्वी का बयान निंदनीय है। गांधी जी को लेकर इस तरह के बयानों को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा, यह बीजेपी का आतंरिक मामला है, लेकिन इस तरह के बयान के लिए उन्हें पार्टी से निकालने पर विचार करना चाहिए। गौरतलब है कि कमल हासन ने सबसे पहले गोडसे को पहला हिंदू आतंकी बताया था। इसके बाद साध्वी प्रज्ञा ने कहा था, गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे।  

इसके साथ ही नीतीश ने एक महीने से अधिक समय तक चले चुनाव को लेकर आपत्ति जताई है। सीएम ने कहा, चुनाव कम से कम चरणों में कराया जाना चाहिए। नीतीश कुमार ने कहा, चुनाव इतने लंबे समय तक नहीं कराया जाना चाहिए, एक चरण से दूसरे चरण के बीच का अंतराल अधिक था। मैं चाहता हूं कि सर्वदलीय बैठक में मतदान को लेकर फैसला लिया जाए। कोशिश होने चाहिए कि फरवरी-मार्च या अक्टूबर-नवंबर में मतदान हो। गर्मी होने की वजह से चुनाव प्रक्रिया में लोगों की भागीदारी कम हो जाती है।

कमेंट करें
Yhcze