दैनिक भास्कर हिंदी: अकाल तख्त प्रमुख के खालिस्तान की मांग पर भड़के भाजपा नेता बोले- कहां है हुकुमनामा?

June 9th, 2020

हाईलाइट

  • अकाल तख्त प्रमुख के खालिस्तान की मांग पर भड़के भाजपा नेता बोले- कहां है हुकुमनामा?

नई दिल्ली, 8 जून (आईएएनएस)। सिखों की धार्मिक संस्था अकाल तख्त प्रमुख ज्ञानी हरप्रीत सिंह की ओर से ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर खालिस्तान की मांग उठाने पर भाजपा नाराज हो उठी है। पंजाब में सहयोगी शिरोमणि अकाली दल की ओर से बयान की निंदा न किया जाना भी भाजपा को नागवार गुजरा है।

भाजपा के नेशनल सेक्रेटरी सरदार आरपी सिंह ने इस बयान की तीखी निंदा करते हुए कहा है कि हिंदुस्तान का कोई भी सिख खालिस्तान के पक्ष में नहीं है। अकाल तख्त प्रमुख को स्पष्ट करना होगा कि क्या यह उनका निजी बयान है या फिर तख्त से कोई हुकुमनामा जारी हुआ है। अगर जारी हुआ है तो उसे सार्वजनिक करें।

बीजेपी के नेशनल सेक्रेटरी आरपी सिंह ने आईएएनएस से कहा, अकाल तख्त की ओर से कोई व्यक्तिगत रूप से कोई स्टेटमेंट नहीं जारी करता, बल्कि पांच अलग-अलग तख्तों के जत्थेदारों की सहमति के बाद किसी मुद्दे पर हुकुमनामा जारी होता है। अकाल तख्त प्रमुख को बताना होगा कि खालिस्तान की मांग को लेकर क्या कोई हुकुमनामा जारी हुआ है? अकाल तख्त प्रमुख का निजी विचार देश के सिखों की भावनाओं को नहीं व्यक्त करता है।

भाजपा नेता सरदार आरपी सिंह ने नाराजगी जताते हुए कहा, अगर खालिस्तान की मांग करनी है तो अकाल तख्त प्रमुख हरप्रीत सिंह लाहौर चले जाएं। गूगल पर खालिस्तान की राजधानी सर्च करने पर लाहौर का नाम आता है। देश का हर सच्चा सिख खालिस्तान की मांग को खारिज करता है।

भाजपा नेता आरपी सिंह ने इन आरोपों को खारिज किया कि मोदी सरकार में सिखों के साथ ठीक बर्ताव नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि 70 वर्षो से सिखों की करतारपुर कॉरीडोर की मांग को मोदी सरकार ने ही पूरा किया। मोदी सरकार की वजह से ही सिख दंगों के दोषी सज्जन कुमार जेल में हैं। मोदी सरकार ने सिखों की बेहतरी के लिए बहुत सारे काम किए हैं।