दैनिक भास्कर हिंदी: BJP सांसद बोले- राहुल गांधी को गले लगाएंगे तो हमारी पत्नियां तलाक दे सकती हैं

July 27th, 2018

हाईलाइट

  • बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि अगर नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष को गले लगाया तो उनका तलाक हो सकता है।
  • राहुल गांधी ने कहा था कि बीजेपी सांसद मुझे देखकर दो कदम पीछे चले जाते हैं क्योंकि उन्हें डर लगता है कि मैं कहीं उन्हें गले न लगा लूं।
  • राहुल गांधी ने एक किताब के विमोचन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में ये कहा था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी के प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने का मामला थमता दिखाई नहीं दे रहा है। बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने गुरुवार को कहा कि अगर नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष को गले लगाया तो उनका तलाक हो सकता है। बीजेपी सांसद का ये बयान राहुल गांधी के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा था कि बीजेपी सांसद मुझे देखकर दो कदम पीछे चले जाते हैं क्योंकि उन्हें डर लगता है कि मैं कहीं उन्हें गले न लगा लूं।

हम राहुल को गले लगाने से डरते हैं
निशिकांत दुबे ने कहा, " हां हम राहुल गांधी को गले लगाने से डरते हैं, क्योंकि हम शादी शुदा व्यक्ति है.. और भारतीय जनता पार्टी के जो सांसद है उन्हें लगता है कि अगर वह राहुल गांधी से गले लगाएंगे और घर जाएंगे तो उनकी पत्नी उन्हें क्या कहेगी.. या तो वह तलाक दे देंगी या फिर कहेंगी की तुम्हारे लक्षण ठीक नहीं है.. दूसरी बात सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 को कानूनी मंजूरी नहीं दी है.. क्या भरोसा राहुल गांधी गले मिलने के बाद कोर्ट केस कर दें.. इसलिए कोर्ट केस से भी डर लगता है.. अगर राहुल गांधी शादी कर लेंगे तो फिर हम उनसे गले मिलने के लिए तैयार है।"

 

 

क्या कहा था राहुल गांधी ने?
बता दें कि राहुल गांधी ने एक किताब के विमोचन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा था, 'आप पूरी शक्ति के साथ किसी से लड़ सकते हैं, लेकिन नफरत करने की बात आप पर निर्भर करती है। मेरे ख्याल से इसे समझना बहुत जरूरी है। आडवाणी (लालकृष्ण आडवाणी) से मेरे विचार अलग हो सकते हैं, देश को लेकर उनकी और मेरी राय बिल्कुल जुदा हो सकती है। मैं हर कदम पर उनसे लड़ सकता हूं, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि मैं उनसे नफरत करूं। उन्होंने मजाकिएं लहजे में कहा भाजपा सांसद उन्हें देखकर दो कदम पीछे चले जाते हैं क्योंकि उन्हें डर लगता है कि मैं कहीं उन्हें गले न लगा लूं।'