दैनिक भास्कर हिंदी: झाबुआ में हार की समीक्षा करेगी भाजपा

October 24th, 2019

हाईलाइट

  • झाबुआ में हार की समीक्षा करेगी भाजपा

भोपाल, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के झाबुआ विधानसभा क्षेत्र में हुए उपचुनाव में हार की भाजपा समीक्षा करेगी। यह बात पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कही है।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा, उपचुनाव में आमतौर पर जनता का रुझान सरकार के पक्ष में होता है, लेकिन सरकार के खिलाफ प्रदेश में और खासकर झाबुआ में जो वातावरण दिखाई दिया, उस आधार पर झाबुआ उपचुनाव क्षेत्र में भाजपा को आशा दिख रही थी। सरकार की नाकामियों को जनता तक पहुंचाने में जो भी कमी रह गई, उसकी समीक्षा करेंगे। अब सरकार की वादाखिलाफी को जनता तक पहुंचाने का काम दोगुनी ताकत के साथ करेंगे। इसी कड़ी में चार नवम्बर को प्रदेश के सभी जिला केंद्रों पर किसान आक्रोश आंदोलन आयोजित किया गया है।

सिंह ने कहा, झाबुआ कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है। कांग्रेस के बागी उम्मीदवार खड़े होने से भाजपा को पिछले चुनाव में जीत हासिल हुई। इस चुनाव में जनता के भीतर प्रदेश सरकार को लेकर नकारात्मकता देखने को मिली और इसी कारण हम आशान्वित थे कि परिणाम अच्छे होंगे, लेकिन कमलनाथ सरकार ने उपचुनाव में सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया। शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों को बूथ जिताने के टारगेट दिए गए। जिसका असर इस उपचुनाव के परिणाम पर पड़ा है।

सिंह ने कहा, चुनाव प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ की मौजूदगी में प्रदेश सरकार के मंत्री हनी बघेल ने कहा था कि यहां से भूरिया जीतते हैं, तो इस जिले को केवल विधायक ही नहीं बल्कि एक मुख्यमंत्री भी मिलेगा। उनके कथन अनुसार अब कांग्रेस को तय करना है कि वह कांतिलाल भूरिया को मंत्री बनाएंगे या मुख्यमंत्री।

उन्होंने कहा कि यदि भूरिया, मुख्यमंत्री नहीं बनाए गए, तो यह आदिवासियों के साथ ठीक उसी प्रकार का धोखा होगा, जिस प्रकार की धोखाधड़ी कर्जमाफी और कांग्रेस के अन्य वचनों को लेकर हुई है।