दैनिक भास्कर हिंदी: अगर कश्मीर हिन्दू बहुल होता अनुच्छेद 370 नहीं हटाती बीजेपी- चिदंबरम

August 12th, 2019

हाईलाइट

  • अनुच्छेद 370 पर कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम ने दिया बड़ा बयान
  • कश्मीर राज्य हिंदू बहुल होता तो बीजेपी नहीं हटाती अनुच्छेद 370
  • अनुच्छेद 370 पर राज्य सभा में विपक्षी दलों ने भय के कारण नहीं दिया साथ

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता पी.चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर को लेकर बड़ा बयान दिया है। चिदंबरम ने कहा, अगर जम्मू-कश्मीर राज्य हिंदू बहुल होता तो बीजेपी इस राज्य से कभी अनुच्छेद 370 नहीं हटाती। बीजेपी ने अपनी ताकत से अनुच्छेद 370 को हटाया है और जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छीना है। चिदंबरम के बयान पर बीजेपी नेताओं का कहना है कि उन्हें हिंदू-मुस्लिम विरोधाभास वाला बयान नहीं देना चाहिए। केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में सभी वर्गों को ध्यान में रखकर कदम उठाया है। सरकार यहां विकास करने के साथ-साथ आतंकवाद को पूरी तरह खत्म करना चाहती है।

चिदंबरम ने मीडिया पर भी सवालिया निशान लगाए हैं। उन्होंने कहा है कि जम्मू-कश्मीर के हालात पर अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसियां इस अशांत स्थिति को कवर कर रही हैं, लेकिन भारतीय मीडिया ऐसा नहीं कर रहे हैं। बीजेपी दावा कर रही है कि जम्मू-कश्मीर में हालात ठीक हैं। अगर भारतीय मीडिया घराने जम्मू-कश्मीर में अशांति की स्थिति को कवर नहीं करते हैं तो क्या इसका मतलब स्थिरता होता है ?

चिदंबरम ने विपक्षी दलों पर भी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि सात दलों ने बीजेपी के कदम के खिलाफ ‘‘भय’’ के कारण सहयोग नहीं किया। हमें पता है कि लोकसभा में हमारे पास बहुमत नहीं है लेकिन सात पार्टियों (अन्नाद्रमुक, वाईएसआरसीपी, टीआरएस, बीजद, आप, टीएमसी, जद(यू) ने सहयोग किया होता तो विपक्ष राज्यसभा में बहुमत में होता। यह निराशाजनक है।