दैनिक भास्कर हिंदी: केरल में भारी बारिश और भूस्खलन ने मचाई तबाही, 3 की मौत 10 लोग लापता

June 14th, 2018

हाईलाइट

  • भूस्खलन में दबे हैं 8 लोग
  • 24 घंटे से हो रही है बारिश
  • असम और मेघालय में भी हाई अलर्ट

डिजिटल डेस्क, तिरुवनन्तपुरम। केरल में बारिश के साथ भूस्खलन ने जमकर तबाही मचाई है। पिछले 24 घंटो से लगातार जारी बारिश में तीन लोगों की जान चली गई है जिसमें एक 9 साल का बच्चा भी शामिल है। वहीं तेज बहाव में 10 लोग के लापता हो जाने की खबर है। वहीं बारिश के बाद भूस्खलन में 8 लोग के दबने की खबर है जिन्हें बचाने के लिए रेस्कयू ऑपरेशन जारी है। 

 


वहीं केरल के कोझिकोड़ का एक वीडियो सामने आया है जिसमें बारिश से मची तबाही का मंजर साफ देखा जा सकता है। ये वीडियो केरल के कट्टीपारा इलाके में आई बाढ़ का है जहां पानी पुल के उपर से उफान मारता हुआ जा रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि पानी का बहाव इतना ज्यादा तेज है कि पुल भी उसके आगे टिकता नजर नहीं आ रहा है। इसके साथ ही भूस्खलन हो जाने से कई लोगों के दबे जाने की खबर सामने आई है। वहीं कई लोग लापता भी बताए जा रहे है। 


यातायात प्रभावित 
बीते 24 घंटे से भी ज्यादा समय से हो रही तेज बारिश और भूस्खलन के चलते केरल के कई इलाको में यातायात पूरी तरह से बधित हो चुका है। सड़के बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है। बारिश का असर रेल यातायात पर भी दिखने को मिल रहा है। बारिश के कारण ज्यादातर ट्रेन समय पर नहीं पहुंच रही है जिससे यात्रियों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 


रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
भूस्खलन औऱ बारिश में फंसे लोगों को बचाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर रेस्कयू ऑपरेशन जारी है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन टीम और राज्य की टीम प्रभावित इलाकों में मौजूद है। केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने मुख्य सचिव और जिला कलेक्टर को तत्काल राहत कार्रवाई के आदेश दिए हैं।  


मौसम विभाग की चेतावनी
भारतीय मौसम विभाग ने मेघालय और असम में तीन दिन के लिए हाई अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग का कहना है कि दोनों राज्यों के कई जिलों में 16 जून तक भारी बारिश की पूरी संभावना है। वहीं, असम के करीमगंज जिले में सिंगला और लंगई नदियां खतरे के निशान से उपर बह रही है। बारिश के कारण रेल और सड़क यातायात पूरी तरह से बधित हो चुका है।


खतरे के निशाने से ऊपर नदियां
केरल के साथ ही दक्षिण भारत के एक और राज्य कर्नाटक में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। शिवमोगा, कोडागू और चिकमंगलुरु जिलों में हुई बारिश के बाद सभी प्रमुख नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। कई इलाकों में लैंडस्लाइड की खबर है। 


पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश का कहर
केरल के साथ ही बारिश ने पूर्वोत्तर के अधिकांश हिस्सों में तबाही मचाई है। असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम में भारी बारिश से अधिकांश इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन चुके हैं। त्रिपुरा में चार लोगों मरने की खबर आई है। आपदा प्रबंधन ने बताया कि भूस्खलन, पेड़ गिरने या बाढ़ से उफनती नदी में मछली पकड़ने के दौरान चार लोग मारे गए हैं। कई गावों में बाढ़ का पानी घुसने से फसलें भी बर्बाद गई हैं।