comScore

जब अस्पताल में गौर से मिलने पहुंचे CM कमलनाथ तो आंखों से छलक पड़े आंसू


हाईलाइट

  • मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम बाबूलाल अस्तपाल में भर्ती
  • बाबूलाल गौर की हालत बेहद नाजुक
  • बाबूलाल गौर से मिलने पहुंचे सीएम कमलनाथ

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। गौर राजधानी भोपाल के नर्मदा अस्पताल में आईसीयू वार्ड में भर्ती हैं। 89 साल के बाबूलाल गौर के फेफड़ों में इन्फेक्शन हुआ है जिसका अभी इलाज चल रहा है। गौर का शरीर पूरी तरह से बेजान हो चुका है। शरीर में कोई भी हरकत नहीं हो रही है। कुछ बोलने में भी सक्षम नहीं है। गौर के परिचित उनका हाल-चाल जानने के लिए अस्पताल पहुंच रहे हैं। इस कड़ी में मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ भी अपने मित्र गौर का हाल जानने के लिए गुरुवार को  नर्मदा अस्पताल पहुंचे थे। सीएम के साथ मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा भी मौजूद थे।

कमलनाथ ने बाबूलाल गौर की बहू कृष्णा गौर की मौजूदगी में आईसीयू में जाकर उनका का हाल जाना। जबकि सीएम ने डॉक्टर्स से भी गौर साहब के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। जैसे सीएम कमलनाथ ने गौर से कहा,'आप ठीक हो जाइए एक बार फिर हम जापान यात्रा पर चलेंगे।ये सुनते ही बाबूलाल गौर के लगभग बेजान शरीर में हल्की सी हरकत हुई। हालांकि वो कुछ बोलना चाहते थे, लेकिन बोल नहीं सके'

सीएम कमलनाथ के साथ आईसीयू में मौजूद रहे जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बताया कि जिस वक्त सीएम ने बाबूलाल गौर से बात कर रहे थे उस वक्त गौर साहब की आंखों से आंसू छलक आए। बाद में मीडिया से बात करते हुए कमलनाथ ने कहा कि वो बाबूलाल गौर को काफी पहले से जानते हैं और उम्मीद करते हैं कि वे जल्द स्वस्थ होकर घर वापस लौटेंगे। बता दें कि अस्पताल में भर्ती कराए जाने के बाद से कई पार्टी नेता उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामना की थी। उनके अलावा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट करके बाबूलाल गौर के जल्दी ठीक होने की कामना की थी।

मध्य प्रदेश की राजनीति में बड़ा नाम हैं बाबूलाल गौर

  • बाबूलाल गौर 23 अगस्त 2004 से 29 नवंबर 2005 तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।
  • गौर का जन्म उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के नौगीर गांव में दो जून 1930 को हुआ था। 
  • गौर साल 1946 से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ गए थे।
  • गौर भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक सदस्य भी हैं।
  • गौर आपातकाल के दौरान करीब 19 महीने जेल में भी रह चुके हैं।
  • गौर साल 1974 में मध्य प्रदेश सरकार ने गोवा मुक्ति आन्दोलन में हिस्सा लिया था।
  • बाबूलाल गौर को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के सम्मान से नवाजा गया था।
  • गौर शिवराज सिंह सरकार में नगरीय प्रशासन और विकास, भोपाल गैस त्रासदी और पुनर्वास मंत्री भी रहे।

कमलनाथ के साथ जापान गए थे गौर 
बाबूलाल गौर जब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, तब कमलनाथ केंद्र में मंत्री हुआ करते थे। दोनों नेताओं ने डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के सिलसिले में साथ में विदेश यात्राएं की थीं। यकीनन जब कमलनाथ बीमार गौर का हाल जानने के लिए अस्‍पताल पहुंचे तो पुरानी यादें ताज़ा हो गईं और स्थिति भावुक बन गई।

कमेंट करें
Q6JZ1