comScore

India-China Tension: भारतीय सेना की हिरासत में चीनी सैनिक, पूछताछ के बाद वापस PLA को सौंपा जाएगा


हाईलाइट

  • भारतीय सेना ने सोमवार को पूर्वी लद्दाख में एक चीनी सैनिक को पकड़ लिया
  • सेना ने कहा कि चीनी सैनिक लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के पास रास्ता भटक गया था
  • प्रोटोकॉल के हिसाब से जरूरी प्रक्रिया पूरे करने के बाद चीनी सैनिक को छोड़ा जाएगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय सेना ने सोमवार को पूर्वी लद्दाख में एक चीनी सैनिक को पकड़ लिया। सेना ने कहा कि चीनी सैनिक लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के पास रास्ता भटक गया था। चीनी सैनिक को पूछताछ और प्रोटोकॉल के हिसाब से जरूरी प्रक्रिया पूरे करने के बाद चुशूल-मॉल्डो बीपीएम पॉइंट से वापस चीनी सेना को सौंपा जाएगा। पीएलए का सैनिक चीनी सेना में कॉरपोरल रैंक में है। उसका नाम वांग या लांग है। 19 अक्टूबर 2020 को पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में इसे हिरासत में लिया गया था। चीन सेना की तरफ से भी भारतीय सेना को बताया गया कि उनका एक सैनिक मिसिंग है।

लद्दाख बॉर्डर पर लंबे समय से चल रहा विवाद
बता दें कि भारत और चीन के बीच कई महीने से लद्दाख सीमा पर विवाद चल रहा है। भारत और चीन की सेनाएं अप्रैल-मई से आमने-सामने हैं। पैंगोंग लेक, गलवान घाटी और हॉट स्प्रिंग सहित अन्य क्षेत्रों में चीनी सैनिकों के दाखिल होने से ये विवाद पैदा हुआ है। 15 जून की रात लद्दाख की गलवान वैली में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प में भारत के एक कर्नल और 19 जवान शहीद हो गए थे। चीन के भी 43 सैनिकों के मारे जाने की खबर आई थी। 45 साल बाद 7 सितंबर को पहला मौका था जब दोनों ही देशों के सैनिकों के बीच गोली भी चली थी। दोनों देश लंबे समय से बातचीत के जरिए इस विवाद को सुलझानें की कोशिश कर रहे हैं लेकिन अब तक इसे पूरी तरह सुलझाया नहीं जा सका है।

कमेंट करें
GXr1H