दैनिक भास्कर हिंदी: MP चुनाव : EVM से छेड़छाड़ की आशंका के बीच सागर का नायाब तहसीलदार निलंबित

December 2nd, 2018

हाईलाइट

  • मतदान के बाद मध्य प्रदेश में ईवीएम पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
  • सतना जिले के स्ट्रांगरूम में अज्ञात बक्से ले जाने का वीडियो फुटेज सामने आया
  • अनूपपुर में ईवीएम का हुआ गलत संचालन, सागर में 48 घंटे देर से पहुंची ईवीएम, भोपाल में स्ट्रांगरूम के बाहर डेढ़ घंटे बंद रही लाइट

डिजिटल डेस्क, भोपाल। ईवीएम पर जारी विवाद के बीच सागर के नायब तहसीलदार राजेश मेहरा को ईवीएम पहुंचने में देरी होने के कारण निलंबित कर दिया गया है। बता दें कि ईवीएम को लेकर प्रदेश में कई स्थानों पर बने स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए थे। भोपाल में स्ट्रॉन्ग रूम के कैमरे बंद होने और सागर जिले के खुरई में बड़ी मात्रा में मशीनें मिलने बाद सतना जिले के स्ट्रॉन्ग रूम में अज्ञात बक्से ले जाने का वीडियो फुटेज सामने आया था। जिसके बाद से निर्वाचन आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा किए जा रहे थे। इन सब के बीच सागर वाले मामले में निर्वाचन आयोग ने कार्रवाई की है।

इससे पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीटकर कहा था कि खुरई के बाद अब सतना स्ट्रॉन्ग रूम के भीतर अज्ञात बक्से ले जाने के वीडियो फुटेज सामने आए हैं। क्या निर्वाचन की निष्पक्षता अब सत्तासीन भाजपा के आगे लाचार और बेबस है? निर्वाचन की निष्पक्षता और लोकतंत्र की महत्ता बनाए रखने के लिये दोषियों पर सख्त कार्रवाई अपेक्षित है। इस बारे में एमपी के मुख्य चुनाव अधिकारी ( CEO) कांता राव ने भी सफाई दी थी। उन्होंने ट्वीट कर मतदाताओं को भरोसा दिलाने की कोशिश की कि सभी EVM सेफ, सिक्यॉर और सील हैं।

 

अज्ञात लोगों द्वारा EVM मशीन को स्ट्रांगरूम में ले जाने का वीडियो फुटेज 

 

सतना जिले में सबसे ज्यादा खराब हुई ईवीएम
सतना जिले में वोटिंग के दौरान इस वार ईवीएम ने खराब होने का रिकार्ड कायम किया था। प्रदेश में सर्वाधिक वीवीपैट सतना जिले में ही खराब हुई। स्थिति तो यहां तक रही कि कई केन्द्रों में दो से तीन बार वीवीपैट को बदलना या सुधारना पड़ा। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सतना जिले की सातों विधानसभाओं में कुल 345 वीवीपैट बदलनी पड़ी। जिसमें मॉक पोल के दौरान 61 एवं मतदान के दौरान 284 वीवीपैट बदली गईं। हालात यह रहे कि जिले की सभी रिजर्व वीवीपैट बदलने की स्थिति देखते हुए पड़ोसी जिले रीवा से भी वीवीपैट मंगाए गए तो सतना जिले की अन्य विधानसभाओं से भी दूसरी विधानसभा में वीवीपैट भेजे गए।

अनूपपुर विधानसभा सीट पर पुनर्मतदान
ईवीएम का गलत तरीके से संचालन किए जाने के कारण अनूपपुर विधानसभा सीट के मौहरी मतदान केन्द्र में आज (शनिवार) को पुनर्मतदान कराया जा रहा है। एमपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी एल कांताराव ने बताया कि अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदान केन्द्र क्रमांक 180- मौहरी में पीठासीन अधिकारी द्वारा गलत ढंग से ईवीएम का संचालन किया गया था। जिसके कारण 56 मतदाताओं के मत ईवीएम में दर्ज नहीं हो पाये थे। इस वजह से भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस केन्द्र पर पुनर्मतदान के निर्देश दिये गये हैं। 

भोपाल में कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से की शिकायत
कांग्रेस ने भोपाल के स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर लगी एलईडी के बंद होने पर आपत्ति दर्ज कराते हुए निर्वाचन आयोग में शिकायत की तो दूसरी ओर सागर में शुक्रवार को ईवीएम के पहुंचने पर हंगामा किया गया। हालांकि निर्वाचन अधिकारी गड़बड़ी की आशंका को नकार रहे हैं। बता दें कि भोपाल के विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम मशीनों को पुरानी जेल के परिसर में रखा गया है, मगर शुक्रवार की सुबह अचानक स्ट्रांगरूम के बाहर लगी एलईडी अचानक बंद हो जाने से हड़कंप मच गया। कांग्रेस ने गड़बड़ी की आशंका जताई है। 

प्रशासन ने कही बिजली गुल होने की बात
प्रशासन ने बिजली गुल होने की बात कही है। एलईडी स्क्रीन बंद होने की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी सुदाम खाडे मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया, साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा की। बताया गया है कि शुक्रवार सुबह आठ बजे अचानक स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर चलने वाली एलईडी स्क्रीन बंद हो गई। इस एलईडी पर स्ट्रॉन्ग रूम में रखी ईवीएम मशीनों को बाहर से देखा जा सकता है। स्क्रीन के बंद होते ही वहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ऐतराज जताया, साथ ही ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया। लगभग डेढ़ घंटे तक एलईडी बंद रही।

सागर में 48 घंटे देर से पहुंची ईवीएम
सागर से ईवीएम के मतदान के 48 घंटे बाद मुख्यालय पर पहुंचने पर कांग्रेस ने सवाल उठाए। कांग्रेस का आरोप है कि ये मशीनें खुरई विधानसभा क्षेत्र से आई हैं, जहां से प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। जिस वाहन में ये मशीनें पहुंचीं, उस पर नंबर भी नहीं है, इसलिए संदेह हो रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विवेक तनखा ने ट्वीट कर कहा, माई रिज़र्व EVMs police स्टेशन में 48 घंटे क्यों रखे थे आफ़्टर पोल यह गृह मंत्री का विधानसभा क्षेत्र है। किसने इन्हें सील किया। पहली बार सुन रहें है कि रिज़र्व ईवीएम पुलिस स्टेशन में रखे जातें है। 

कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की अपील

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से प्रत्याशियों से अपील की कि वो 11 दिसंबर तक स्ट्रॉन्ग रूम और ईवीएम पर निगरानी रखें।