• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Congress Attack on Centre crores lost their jobs due Lockdown kapil sibal said Formulate national plan to deal with Covid-19 crisis

दैनिक भास्कर हिंदी: कांग्रेस: अनियोजित लॉकडाउन से करोड़ों नौकरियां गईं, सिब्बल बोले- 'अर्थव्यवस्था का लॉकआउट’

April 25th, 2020

हाईलाइट

  • लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस केंद्र सरकार पर साधा निशाना
  • कांग्रेस ने कहा- बिना योजना के हुआ लॉकडाउन, करोड़ों नौकरियां गईं
  • सिब्बल बोले- कोरोना से निपटने के लिए नेशनल प्लान बनाए सरकार

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना संकट से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन लागू करने के फैसले को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस का कहना है कि, सरकार ने बिना सोचे-समझे और बिना योजना के देश में लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया जिसकी वजह से करोड़ों लोगों की नौकरियां चली गईं। बेरोजगारी बढ़ गई है। देश को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने केंद्र पर तंज कसते हुए कहा कि, अर्थव्यवस्था का लॉकआउट हुआ है। उन्होंने ये भी कहा है कि, कोरोना संकट से निपटने के लिए सरकार राष्ट्रीय स्तर पर एक योजना बनाए।

करोंड़ों लोग हुए बेरोजगार 
कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, 14 करोड़ से अधिक लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं, आने वाले हफ्तों में लाखों नौकरियां जाने की उम्मीद है, क्या भाजपा सरकार के पास उनकी मदद करने की योजना है?

एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस ने कहा, अनियोजित तरीके से लागू किये गये लॉकडाउन के कारण देश को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। एक अनुमान के अनुसार 3 मई तक जीडीपी के 8.1 प्रतिशत के समान असर पड़ेगा।

वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर निशाना साधा साथ ही सुझाव भी दिए। सिब्बल ने सरकार से आग्रह किया है कि, कोरोना संकट से निपटने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर योजना बनाई जाए। सिब्बल ने यह भी कहा, लॉकडाउन के समय में ‘अर्थव्यवस्था का लॉकआउट’ हो गया है और ऐसे में सरकार को ठोस कदम उठाने की जरूरत है।

सिब्बल ने पंचायत प्रतिधिनियों के साथ पीएम के संवाद पर तंज कसते हुए कहा, पीएम मोदी ने पंचायत प्रतिनिधियों से बात की। प्रधानमंत्री जी आप सलाह दीजिए, लेकिन कभी-कभी सलाह ले भी लेना चाहिए। उन्होंने मांग की है कि, कोरोना से निपटने के लिए सरकार आपदा प्रबंधन कानून के तहत एक नेशनल प्लान बनाए। उन्होंने कहा, वक्त आ गया है सरकार को लॉकडाउन पर विचार करना चाहिए। सरकार लोगों को लॉकडाउन में और इकोनॉमी को लॉकआउट में नहीं रख सकती।

उप्र में 30 जून तक नहीं होगी कोई भी सार्वजनिक सभा, DA पर भी रोक

खबरें और भी हैं...